अप्रेजल मीटिंग में ना करें ये गलतियां और ऐसे रखें अपनी बात

अप्रेजल का टाइम आ गया है. ये तो आप जानते हैं हमेशा अप्रेजल से पहले एक मीटिंग भी होती है, जिसे अप्रेजल मीटिंग कहते हैं. यह मीटिंग आपके अप्रेजल में अहम भूमिका निभाती है, इसलिए इस दौरान आपको कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है. आइए जानते हैं उन बातों के बारे में जो आपको अप्रेजल मीटिंग के दौरान ध्यान में रखनी चाहिए.

पूरा डेटा साथ रखें- जब भी आप अप्रेजल मीटिंग में अपने बॉस के सामने जाएं तो अपने आखिरी अप्रेजल की डिटेल भी लेकर जाएं. साथ ही एक साल में खुद की ओर से किए गए काम की पूरी जानकारी प्रिंट आउट में लेकर जाएं. साथ ही ध्यान रखें कि अगर आपको पिछले साल कोई जिम्मेदारी दी गई थी और आपने की है तो आप उसे जरूर बॉस के सामने रखें.

सामान्य बातचीत ना मानें- जब भी आप मीटिंग में जाएं तो इसे एक सामान्य बातचीत नहीं मानें. दरअसल यह मीटिंग आपके करियर पर असर डालती है, इसलिए इस वक्त हर बात सोच समझकर बोलें.

भविष्य की भी बात करें- जब भी बात करें तो इसमें भविष्य को लेकर भी बात करें. जिसके लिए आप किसी ट्रेनिंग आदि की मांग कर सकते हैं या कोई अलग सॉफ्टवेयर के लिए कह सकते हैं. साथ ही जो भी बात करें, उसके लिए अपने प्रोजेक्ट, कंपनी आदि को सब्जेक्ट मानकर करें.

बहस ना करते हुआ बात करें- यह आपका हक है कि आप अपनी बात रखें और कोई गलत आरोप आप पर लग रहा है तो उसके जवाब दें. लेकिन इसका जवाब फैक्ट्स या तथ्यों के साथ दें और बहस ना करें.

तुलना ना करें- जब भी आप पैसों या काम को लेकर बात करें तो हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आप कभी भी दूसरों से तुलना ना करें. कभी भी ऐसा नहीं कहें कि उसके साथ कुछ ऐसा हुआ है और मेरे साथ गलत हुआ है. सिर्फ अपनी ही बात करें.