अभिनंदन की सुरक्षा में गए थे दो विमान, दुश्मन के विमान पर नहीं की कोई कार्रवाई

0 commentsViews:

पाकिस्तान की जमीन से वापस लौटे देश के नायक विंग कमांडर अभिनंदन ने डीब्रिफिंग के दौरान बताया है कि मिग-21 से पाकिस्तानी विमानों का पीछा करते हुए उन्होंने R73 मिसाइल से पाकिस्तान के एक F-16 विमान को मार गिराया था और उसे पाकिस्तान की सीमा में गिरते भी देखा था. वायु सेना के सूत्रों ने इस बात की पुष्ट‍ि की है. हालांकि इस मामले में बड़ा सवाल यह है कि अभ‍िनंदन की सुरक्षा में पीछे लगे दो विमानों ने पाकिस्तानी एफ-16 विमान पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं की?

इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार, अनुसार विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षा में एक सुखोई30 एमकेआई और मिराज 2000 भी पीछे थे, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि उन्होंने आखिर क्यों  दुश्मन के विमान पर हमला नहीं किया? जबकि उनके पास लॉन्ग रेंज के मिसाइल भी थे. इस पर वायु सेना ने अभी कुछ साफ नहीं किया है. वैसे सामान्य परिस्थ‍िति में किसी लड़ाकू विमान के पायलट से यह उम्मीद नहीं की जाती कि वह दुश्मन के इलाके में जाकर उसके विमानों को निशाना बनाए.

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में भारत और पाकिस्तान की वायुसेना में आसमान में एक तरह का टकराव हुआ था. कुछ पाकिस्तानी विमान भारतीय सीमा में घुस आए थे, जिन्हें भारतीय वायु सेना के जांबाज जवानों ने खदेड़ दिया था. एक पाकिस्तानी एफ-16 विमान को खदेड़ते हुए विंग कमांडर अभि‍नंदन पाकिस्तान की सीमा के भीतर तक चले गए थे. उनके मिग-21 विमान पर भी वार किया गया जिसके बाद वे जमीन पर पैराशूट की सहायता से उतरे थे और उन्हें पाकिस्तान की सेना द्वारा हिरासत में ले लिया गया था. लेकिन अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद तीन दिन के भीतर ही पाकिस्तान को अभिनंदन को रिहा करना पड़ा. अभिनंदन के शौर्य को देशभर में सराहना मिली थी. उनकी देश वापसी के दौरान खूब जोश के साथ उनका स्वागत किया गया. भारत आए अभिनंदन से वायुसेना के अधिकारी डीबीफ्रिंग कर जानकारी ले रहे हैं कि पूरा वाकया कैसे हुआ और पाकिस्तान में उनके साथ किस तरह का व्यवहार किया गया.


Facebook Comments