आतंकियों को लेकर कठोर होने से हैस्पेल की आलोचना: ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को सीआईए के निदेशक पद के लिए नामित की गईं जिना हैस्पेल का बचाव करते हुए कहा कि विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता उनकी आलोचना इसलिए कर रहे हैं क्योँकि आतंकवादियों के प्रति उनका रुख कठोर है. विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता उन पर सीआईए के कई गुप्त यातना कार्यक्रमों में संलिप्त होने का आरोप लगाते हुए उनके नामांकन का विरोध कर रहे हैं.

बुधवार को सीनेट की खुफिया मामलों संबंधी समिति हैस्पेल के नामांकन की पुष्टि के लिए सुनवाई करेगी. इससे पहले उन्होंने अपना नाम नामांकन प्रक्रिया से वापस लेना चाहा लेकिन ट्रंप का समर्थन मिलने के बाद हैस्पेल ने अपना फैसला बदला.

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ‘सीआईए के निदेशक पद के लिए नामित मेरी बेहद सम्मानित उम्मीदवार जिना हैस्पेल आतंकियों के प्रति कठोर रूख रखने के चलते आलोचनाओं का सामना कर रही हैं. इसके बारे में सोचें कि इस तरह के खतरनाक समय में हमारी सबसे योग्य हस्ती, एक महिला को डेमोक्रेट निदेशक बनते नहीं देखना चाहते क्योंकि वह आतंकवाद के प्रति कठोर रूख रखती हैं. जिना इसके आगे ना झुकें.’

61 वर्षीय हैस्पेल की सीआईए के निदेशक पद पर नियुक्ति माइक पोम्पियो के विदेश मंत्री बनने के बाद हुई है. हैस्पेल तीन दशक से ज्यादा समय से सीआईए में सेवा दे चुकी हैं. सीआईए के उनके सहयोगी उन्हें एजेंसी में एक बहुत सम्मानित व्यक्ति के रूप में बताते हैं.