आतंकी हाफिज के गेम प्लान का खुलासा, कश्मीर में ISI का टैलेंट हंट कैंप

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने जम्मू कश्मीर में आतंक फैलाने के पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई के ऑपरेशन आतंक का टैलेंट हंट डिकोड किया है. जिससे पता चला है कि पाक एजेंसी ने आतंकी हाफिज सईद के साथ मिलकर नए ठिकानों पर ट्रेनिंग कैंप खोले हैं.

‘आज तक’ के पास मौजूद ख़ुफ़िया एजेंसी के दस्तावेजों से पता चला है कि आतंक का आका हाफिज़ सईद आईएसआई की सरपरस्ती में आतंकियों की भर्ती के लिए नई जगहों पर ट्रेनिंग कैंप खोल रहा है. ये कैम्प आईएसआई और हाफिज़ ने मिलकर POK के बोई, मदारपुर, फगोश और देवलियां में खोले हैं.

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक़ जम्मू कश्मीर में ऑपरेशन ऑल आउट से डरे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तोएबा की यह बड़ी साजिश है. भारतीय खुफिया एजेंसियों ने लश्कर की इस नई साजिश को इंटरसेप्ट करने के बाद डिकोड किया है.

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक़ लश्कर-ए-तय्यबा ने भर्ती किये गए आतंकियों को जम्मू कश्मीर में ऑपरेशन के लिए पहली बार 4 जोन में डिवाइड किया है. आतंकी हमलों के लिए 4 में से एक ज़ोन जम्मू को बनाया है.

कश्मीर में आतंकियों की भर्ती के लिए लश्कर-ए-तय्यबा ने कश्मीर में मौजूद अपने कमांडरों से ज्यादा से ज्यादा नए लोगों को भर्ती करने को कहा है. लश्कर ने ISI की मदद से कश्मीर में घुसपैठ के लिए नए सुरक्षित इंफिल्ट्रेशन रूट की प्लानिंग की है. जिसके जरिए आसानी से घुसपैठ कराई जा सके.

आतंकी हमलों के दौरान सेना की पकड़ से बचने के लिए सेफ कम्यूनिकेशन लाइन बनाने की साजिश में भी लश्कर-ए-तय्यबा का हाथ है. आईएसआईएस की तर्ज पर लश्कर ने भी ऑनलाइन भर्ती के लिए ऑनलाइन मैगजीन Wyeth लांच की है. जिसके जरिए कश्मीर में आसानी से आतंकियों की भर्ती हो सके.

आईएसआई ने सिर्फ लश्कर के लिए ही नहीं बल्कि हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों की भर्ती के लिए भी आतंक का टैलेंट हंट शुरू किया है. ISI कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के एजुकेटड डिस्ट्रिक्ट कमांडर भर्ती करने का अभियान शुरू करने की योजना बना रही है.

कश्मीर में अपने आतंकी कैडर के जरिये पढ़े लिखे युवाओं को भर्ती करने के लिए बड़ी कोशिश कर रहे हैं. आईएसआई ने हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ सैय्यद सलाउद्दीन को POK में ट्रेनिंग कैंप में ट्रेनिंग देने से रोक दिया है. क्योंकि अब सैय्यद सलाउद्दीन से आईएसआई का विश्वास उठ गया है, इसलिए खुद ISI अपनी कमांड में आतंकियों की भर्ती और ट्रेनिंग शुरू कर रही है.

ख़ुफ़िया रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि ISI ही अब अपनी सरपरस्ती में HM के कमांडरों और आतंकियों को भी ट्रेनिंग देगी. इसके लिए POK के फारवर्ड कहुता, दुधनियाल, केल और निकैल में पाक आर्मी और ISI की निगरानी में ट्रेनिंग दी जा रही है.