आरोपी MLA का साथ देने वाले अफसरों को भी दबोचेगी CBI, UP पुलिस भी घेरे में

0 commentsViews:

उन्नाव गैंगरेप मामले में लगातार घिरने के बाद यूपी सरकार ने केस को सीबीआई को सौंप दिया. शुक्रवार सुबह से ही सीबीआई का एक्शन इस केस में शुरू हो गया है. सीबीआई ने सुबह 4 बजे के करीब ही सीबीआई ने आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर को गिरफ्तार किया और तभी से ही पूछताछ जारी है. सीबीआई आज ही विधायक को कोर्ट में पेश कर सकती है. सीबीआई की इस टीम को राघवेंद्र वत्स लीड कर रहे हैं. राघवेंद्र वत्स लखनऊ सीबीआई की एंटी करप्शन ब्रांच यूनिट के एसपी हैं.

पढ़ें मामले के बड़े अपडेट…

सीबीआई की टीम सुबह 4 बजकर 11 मिनट पर कुलदीप सिंह सेंगर के लखनऊ आवास पर पहुंची और उन्हें हिरासत में लिया.

सुबह 4 बजकर 28 मिनट पर घर से सीबीआई दफ्तर पहुंची.

सुबह 4 बजकर 45 मिनट से लगातार कुलदीप सिंह सेंगर से पूछताछ लगातार जारी है.

कुल 7 सीबीआई अफसरों की टीम कुलदीप से पूछताछ कर रही है.

सीबीआई ने दागे ये सवाल –

सीबीआई ने कुलदीप सेंगर से घटना की पूरी जानकारी मांगी.

सीबीआई ने पूछा कि घटना के वक्त वो कहां थे.

सीबीआई ने वायरल ऑडियो के बारे में भी पूरी जानकारी ली.

साथ देने वाले अफसरों पर भी गिरेगी गाज

पिछले काफी दिनों से कुलदीप सिंह सेंगर लगातार बचते हुए आ रहे थे. सीबीआई अब बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मदद करने वालों अफसरों को भी दबोचेगी और पूछताछ करेगी. बताया जा रहा है कि सभी की कॉल डिटेल्स को खंगाला जाएगा, साथ ही सभी की मौजूदगी पर भी नज़र रखी जाएगी. इतना ही नहीं सीबीआई विधायक के साथी पुलिस अफसर भी गिरफ्तार किए जा सकते हैं.

आपको बता दें कि सीबीआई पीड़िता के पिता की हत्या के मामले की भी जांच कर रही है. इस मामले में सीबीआई माखी थाने के पूर्व SO को भी गिरफ्तार कर सकती है. एसओ पर पीड़िता के पिता को फर्जी मामले में जेल भेजने का आरोप है.

गौरतलब है कि सीबीआई की तरफ से इस मामले में अभी तक तीन केस दर्ज किए गए हैं. कुलदीप सेंगर पर नाबालिग से रेप, पीड़िता के पिता की हत्या का केस और तीसरा केस विधायक सेंगर के परिवार की तरफ से जो भी शिकायत दी गई है.

सीबीआई की टीम ने इस मामले को अपने हाथ में लेते ही एक्शन करना शुरू कर दिया है. सीबीआई की टीम शुक्रवार सुबह पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंची. सीबीआई की टीम उन्नाव के एक होटल में परिवार से मुलाकात कर रही है. बताया जा रहा है कि सीबीआई के करीब 7 अफसर परिवार से मिलने पहुंचे हैं.

बता दें, केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश मंजूर करते हुए गुरुवार की शाम इस केस की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से कराने का आदेश जारी किया था. इससे पहले हाई कोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

 


Facebook Comments