इन्वेस्टर्स समिट से UP मालामाल, PM मोदी ने भी दिया डिफेंस कॉरिडोर का तोहफा

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार राज्य में निवेश और बेहतर कारोबार के इरादे से इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कर रही है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लखनऊ में दो दिवसीय यूपी इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन किया. इस समिट में मुकेश अंबानी, रतन टाटा, गौतम अडानी समेत देश के 5000 बड़े उद्योगपति समेत दुनिया के कई देशों के प्रतिनिधि भी शामिल हो रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां निवेश मित्र की शुरुआत की, इस प्लेटफॉर्म के जरिए उद्योगों के लिए ऑनलाइन सारी सुविधाएं उपलब्ध होंगी. कई निवेशकों ने लगभग 70 हजार करोड़ से भी अधिक निवेश का ऐलान किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी इन्वेस्टर्स समिट में कहा कि काफी समय में यूपी विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है, पहले की स्थिति काफी खराब थी ये यूपी के लोग जानते हैं. पहले यहां के लोग भय के माहौल में जी रहे थे, इसलिए उद्योगों का आना मुश्किल था.

उन्होंने कहा कि इस साल बजट में प्रस्ताव किया गया था कि देश में दो डिफेंस कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा. इनमें एक उत्तर प्रदेश में बनेगा, ये कॉरिडोर बुंदेलखंड में बनाया जाएगा. ये आगरा-अलीगढ़-कानपुर-झांसी-चित्रकूट में बनेगा. इससे करीब ढाई लाख लोगों रोजगार मिलेगा. वहीं पूर्वांचल और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से काफी फायदा मिलेगा. इसके लिए 20000 करोड़ का निवेश किया जाएगा.

पीएम मोदी ने कहा कि उस माहौल से अब यूपी निकल चुका है, यूपी में बदलाव दिख रहा है. यहां अब वो नींव तैयार हो चुकी है, जिसपर न्यू उत्तर प्रदेश की दीवार तैयार होगी. उन्होंने कहा कि हमारे यहां पर कोस-कोस पर बदले पानी, चार कोस पर वाणी की कहावत है.

उन्होंने कहा कि यहां पर मलीहाबाद के आम फेमस है, मुरादाबाद के पीतल के बर्तन, फिरोजाबाद का कांच चमक दिखाता है, आगरा का पेठा है तो कन्नौज का इत्र भी है. यहां सुबह बनारस तो शाम की अवध है, यहां की राम की लीला है तो कृष्ण की रास भी है, मोदी ने कहा कि यहां IIT कानपुर है बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी भी है. उन्होंने कहा कि देश के विकास में यूपी का आगे बढ़ना जरूरी है.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साल कुंभ को यूनेस्को ने मानवता की अनमोल धरोहर बताया है. अगले साल होने वाला कुंभ मेला यूपी सरकार के लिए बड़ा मौका है.