ऑपरेशन ऑलआउट से बौखलाए आतंकियों ने पत्थरबाजों को हमले बढ़ाने के लिए कहा

कश्मीर घाटी में सेना के ऑपरेशन ऑल आउट की सफलता से बौखलाए आतंकियों ने एक बार फिर पत्थरबाजों को हमले बढ़ाने के लिए कहा है. आतंकियों और उनके आकाओं ने कश्मीर में अब स्कूली बच्चों को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

48 आतंकियों ने की घुसपैठ

समीर टाइगर के मारे जाने के बाद पत्थरबाजों ने बुधवार को स्कूली बस को निशाना बनाया. जिसमें कई बच्चे घायल हो गए. सुरक्षाबलों ने आतंकी समीर टाइगर को मौत के घाट उतारने के बाद कश्मीर घाटी में एक बार फिर से तनाव पैदा हो गया है. खुफिया जानकारी के मुताबिक जनवरी से अब तक मर चुके हैं.

आतंकियों की साजिश को नाकाम करने की तैयारी

ऐसे में अब सेना ने भी आतंकियों की इस नापाक साजिश से निपटने की तैयारी कर ली है. सेना के सूत्रों ने आजतक को बताया कि सेना हर कीमत पर आतंकियों की साजिश को नाकाम करेगी. आतंकियों की इस बदली रणनीति के बीच सेना पूरी मुस्तैदी के साथ दहशतगर्दों की नापाक साजिश को नाकाम करने में जुटी है. आने वाले दिनों में सेना के ऑपरेशन में बाधा डालने वालों के साथ सख्ती से पेश आया जाएगा.

4 महीने में 50 खूंखार आतंकी ढेर

सेना की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीर में आतंकियों के ओवर ग्राउंड वर्कर स्थानीय लोगों खासकर युवा और महिलाओं को सेना के खिलाफ भड़का रहे हैं. सीमापार पाकिस्तान से कश्मीर घाटी में मौजूद आतंकियों को सीधा स्पोर्ट मिला रहा है. नई रणनीति के तहत सीमापार लश्कर के आकाओं ने कश्मीर घाटी में मौजूद लोकल कमांडर को सेना के खिलाफ स्थानीय लोगों को भड़काने का काम तेज करने के लिए कहा है. इस बार खासतौर से सेना गर्मियों के दौरान आक्रामक कार्रवाई से आतंकियों का ढूंढकर सफाया कर रही है. पिछले 4 महीने के दौरान सेना ने ऐसे करीब 50 खूंखार आतंकियों को मार गिराया है.

पत्थरबाज़ पहले तो सेना और सुरक्षाबलों पर पत्थर चलाया करते थे, लेकिन स्कूली बच्चों पर किए इस हमले ने न सिर्फ अलगाववादियों के चहरे से नक़ाब उठाया बल्कि आतंकियों की बैखलाहट को भी साफ ज़ाहिर किया है.