केविन ओ ब्रायन बोले- बेंगलुरु में वर्ल्ड कप वाला शतक अब भी खास

आयरलैंड के पहले टेस्ट में शतक लगा कर इतिहास में अपना नाम दर्ज करने वाले केविन ओ ब्रायन का कहना है कि 2011 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ शतक उनके करियर में पहला स्थान रखता है. केविन ने डब्लिन के द विलेज मालहिदे मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट में शतक लगाकर आयरलैंड को बढ़त दिलाई.

केविन ओ ब्रायन अपने देश के लिए पहला टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. साथ ही ऐसे चौथे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने अपने देश के पहले टेस्ट मैच में शतक जमाया –

165* – चार्ल्स बैनरमैन (ऑस्ट्रेलिया) मार्च 1877

121 – डेव हॉटन (जिम्बाब्वे) अक्टूबर 1992

145 – अमीनुल इस्लाम (बांग्लादेश) नवंबर 2000

 118 – केविन ओ ब्रायन (आयरलैंड) मई 2018

उन्होंने इसे बेहद भावुक पल बताया, लेकिन कहा कि यह शतक उनके करियर में अभी भी दूसरे स्थान पर है. उनकी सूची में भारत में खेले गए विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ लगाया गया 50 गेंदों में शतक अभी भी पहले स्थान पर है.

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने केविन के हवाले से लिखा है, ‘मेरे लिए बेंगलुरू में लगाया गया शतक अभी भी नंबर-1 स्थान पर है. वो इसलिए कि वो शतक मैंने कहां और किस के खिलाफ मारा था. वह विश्व कप था.’

इस शतक के बाद उनका नाम स्टेडियम में एक बोर्ड पर दर्ज हो गया है. केविन ने कहा, ‘यह मेरे लिए बेहद गर्व और भावुक पल है. मैं जानता हूं कि मेरे पैर में चोट लग गई थी, लेकिन दर्शक पागल हो गए थे.