कॉमनवेल्थ समिट में 52 देशों के रिप्रेजेंटेटिव के सामने राजद विधायकों का हंगामा, भ्रष्टाचार के जिक्र से थे नाराज

पटना. यहां चल रहे छठे कॉमनवेल्थ पार्लियामेंटरी समिट में 52 देशों के रिप्रेजेंटेटिव के सामने आरजेडी विधायकों ने हंगामा किया। विधायकों को शांत करने के लिए लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कोशिश की, लेकिन कोई उनकी बात सुनने को तैयार नहीं था। हंगामा डिप्टी सीएम सुशील मोदी के भाषण के दौरान हुआ। मोदी बता रहे थे कि भारत में करप्शन के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है। केंद्र की बीजेपी और राज्य सरकार इस मामले में मिलकर काम कर रही हैं। इसका नतीजा है कि भ्रष्टाचार के मामले में 4 पूर्व मुख्यमंत्री जेल में बंद हैं।

विधायकों ने लगाए नारे 
– सुशील मोदी ने जैसे ही कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में सजा पाकर 5 पूर्व मुख्यमंत्री किसी न किसी जेल में बंद हैं, आरजेडी विधायकों ने हंगामा कर दिया। सभी विधायक नारे लगाने लगे।

– हंगामे के बीच मोदी बोलते रहे, लेकिन आरजेडी नेताओं का गुस्सा शांत नहीं हुआ। स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बीच भाषण में आरजेडी के विधायकों को शांत रहने को कहा। उन्होंने कहा, “यह बिहार विधानसभा नहीं है जो आप लोग हंगामा कर रहे हैं। आप लोगों को यहां अतिथि के रूप में बुलाया गया है। आप अतिथि की तरह पेश आएं।” हंगामे के बाद आरजेडी विधायकों ने सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया।

– मोदी ने कहा, “भ्रष्टाचार रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने कई कदम उठाए हैं। इससे विधायिका की विश्वसनीयता मजबूत हुई है। हम सबका दायित्व बनता है कि अपने सार्वजनिक जीवन को जीतना हो सके पारदर्शी बनाएं।”

हम कैसे दब जाते: तेजस्वी
– हंगामे पर विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा, “सुशील मोदी के मन में जो आएगा वह बोलेंगे और हम लोग चुप रहेंगे। यह नहीं होगा। हम कैसे दब जाते। उन्हें ख्याल रखना चाहिए था।”

– “लालू यादव अभी जेल में बंद हैं, लेकिन उनके पास हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट जाने का विकल्प है। सबसे बड़ा फैसला जनता की अदालत में होता है। सुशील मोदी को माफी मांगनी चाहिए और उन्हें अपने शब्द वापस लेने चाहिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।”

52 देशों के रिप्रेजेंटेटिव हुए शामिल
– छठे कॉमनवेल्थ पार्लियामेंटरी समिट का आयोजन बिहार में हो रहा है। इसमें 52 देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

– शनिवार को पटना के ज्ञान भवन में सम्मेलन का इनॉगरेशन हुआ। इस मौके पर लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी शामिल हुए।