क्रिकेट और फुटबॉल की भी दीवानी थीं नरगिस, ऐसे हुई थी मौत

नरगिस दत्त का जन्म 1 जून 1929 में हुआ था. नरगिस का असली नाम फातिमा राशिद था. नरगिस ने साल 1935 फिल्म तलाश-ए-हक से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की. इस दौरान उन्हें बेबी नरगिस कहकर बुलाया जाता था.

साल 1940 से 60 के बीच उन्होंने राज कपूर के साथ कई सफल फिल्मों में काम किया. फिल्म आग, आवारा और बरसात इनमें से प्रमुख फिल्में रहीं.

नरगिस की बेटी नम्रता ने अपनी मां के बारे में बात करते हुए बताया था कि वो बेहद मजाकिया थीं. साथ में एक बहुत अच्छी तैराक भी थीं.

नरगिस को खेलना पसंद था और बचपन में वो अपने भाई अनवर हुसैन और अख्तर हुसैन के साथ फुटबॉल और क्रिकेट खेलना पसंद करती थीं.

नरगिस बहुत डाउन टू अर्थ थीं और सड़क के किनारे किसी भी चाट वाले की दुकान से पानी पुरी खाना पसंद करती थीं. इसके अलावा वो अपनी दोस्तों के साथ आम लोगों की तरह शॉपिंग करने से भी परहेज नहीं करती थीं.

 सुनील दत्त से शादी करने के बाद नरगिस हाउसवाइफ की भूमिका निभाने को लेकर काफी खुश थीं. साथ ही वो खाना पकाना सीखने को लेकर भी बहुत उत्सुक थीं.

2 मई 1981 को कैंसर के कारण नरगिस की मौत हो गई. उनकी सबसे यादगार फिल्म मदर इंडिया रही जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था.