खालिस्तान सपोर्टर को कनाडा के PM ने दिल्ली में डिनर पर बुलाया, 32 साल पहले मंत्री पर किया था जानलेवा हमला

मुंबई. भारत आए कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तान समर्थक रहे जसपाल अटवाल को स्पेशल डिनर पर इनवाइट किया, लेकिन बाद में इसे कैंसिल कर दिया गया। यह प्रोग्राम गुरुवार को दिल्ली में कनाडा के हाईकमीशन की ओर से किया जाना है। अटवाल दो अलग-अलग फोटो में ट्रूडो की पत्नी सोफिया और उनके एक मंत्री के साथ भी नजर आया है। बताया जा रहा है कि यह फोटो 20 फरवरी को मुंबई में लिया गया। अटवाल 32 साल पहले पंजाब के एक मंत्री पर जानलेवा हमला करने का दोषी है। बता दें कि ट्रूडो एक हफ्ते के भारत दौरे पर आए हैं। गुरुवार को उनके दौरे का छठा दिन है। वे 23 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे।

 

 

इन्विटेशन कैंसिल करने की वजह नहीं बताई

– न्यूज एजेंसी ने कनाडा की सीबीसी न्यूज के हवाले से बताया कि जसपाल का इन्विटेशन कैंसिल किया जा रहा है।

– सीबीसी न्यूज के मुताबिक, कनाडा के पीएमओ के स्पोक्सपर्सन ने कहा, “हम पुष्टि करते हैं कि हाई कमीशन अटवाल का इन्विटेशन रद्द करने की प्रॉसेस हो रही है।”

– जसपाल ट्रूडो के साथ आए ग्रुप में शामिल नहीं था। अभी यह साफ नहीं हो सका है कि उसका नाम मुंबई और दिल्ली में बुलाए जाने वाले गेस्ट की लिस्ट में कैसे आया।

किस-किस के साथ दिखा अटवाल?
– ट्रूडो मंगलवार को मुंबई गए थे। एक फोटो में अटवाल यहां ट्रूडो की पत्नी सोफिया के साथ नजर आ रहा है। एक अन्य फोटो में वह ट्रूडो के मंत्री अमरजीत सोही के साथ भी दिखाई दिया।

कौन है जसपाल अटवाल?
– जसपाल अटवाल खालिस्तान समर्थक रहा है। वह बैन किए गए इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन में काम करता था।

– इस संगठन को 1980 के दशक की शुरुआत में कनाडा सरकार ने आतंकी संगठन घोषित किया था।

– अटवाल को पंजाब के पूर्व मंत्री मलकीत सिंह सिद्धू और तीन अन्य लोगों को 1986 में वैंकूवर आईलैंड में जानलेवा हमला करने के केस में दोषी ठहराया गया था।
– जसपाल उन चारों लोगों में शामिल था, जिन्होंने सिद्धू की कार पर घात लगाकर हमला किया था और गोलियां चलाई थीं। हालांकि, सिद्धू ने आरोपों से इनकार किया था।