खालिस्तान सपोर्टर को न्योता नहीं दिया जाना चाहिए था, उसे एक सांसद ने बुलाया था: कनाडा पीएम जस्टिन ट्रूडो

0 commentsViews:

मुंबई.भारत आए कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो खालिस्तान समर्थक रहे जसपाल अटवाल को स्पेशल डिनर पर इनवाइट करके विवादों में घिर गए हैं। इस पर कनाडा के पीएमओ ने सफाई देते हुए कहा कि अटवाल ट्रूडो के साथ गए डेलिगेशन में शामिल नहीं था। उसका इन्विटेशन भी कैंसिल कर दिया गया है। वहीं, ट्रूडो ने कहा, ”खालिस्तान समर्थक को न्योता नहीं दिया जाना चाहिए था। पार्लियामेंट के एक मेंबर ने उसे पर्सनली बुलाया था।” यह प्रोग्राम गुरुवार को दिल्ली में कनाडा के हाईकमीशन की ओर से किया जाना है। अटवाल दो अलग-अलग फोटो में ट्रूडो की पत्नी सोफिया और उनके एक मंत्री के साथ भी नजर आया है। बताया जा रहा है कि यह फोटो 20 फरवरी को मुंबई में लिया गया। अटवाल 32 साल पहले पंजाब के एक मंत्री पर जानलेवा हमला करने का दोषी है।

किस-किस के साथ दिखा अटवाल?

– ट्रूडो मंगलवार को मुंबई गए थे। एक फोटो में अटवाल यहां ट्रूडो की पत्नी सोफिया के साथ नजर आ रहा है। एक अन्य फोटो में वह ट्रूडो के मंत्री अमरजीत सोही के साथ भी दिखाई दिया।

– बता दें कि ट्रूडो एक हफ्ते के भारत दौरे पर आए हैं। गुरुवार को उनके दौरे का छठा दिन है। वे 23 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे।

गलती की जो कैनेडियन का बैकग्राउंड चेक नहीं किया: स्वामी
– अटवाल को डिनर में इन्वाइट किए जाने पर बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, “हमारी बेवकूफी थी हमने बैकग्राउंड चेक नहीं किया और कैनेडियंस जो कहते हैं कि हम खालिस्तानियों को सपोर्ट नहीं करते, उन्होंने उनको कैसे अलाऊ किया?”

ट्रूडो को भावनाओं का सम्मान करना चाहिए: कांग्रेस सांसद

– गुरुदासपुर से कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ ने कहा, “कनाडा के पीएम को भारत सरकार, खासतौर पर पंजाब के लोगों की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए। वे देश के मुखिया हैं। उन्होंने कहा था कि कनाडा किसी भी तरह से आतंकवाद का समर्थन नहीं करता है।”

 


Facebook Comments