खाली पड़े ATM से सकते में सरकार, कहा- हर रोज छाप रहे हैं 500 करोड़ के नए नोट

0 commentsViews:

आम आदमी एक बार फिर कैश की किल्लत से जूझ रहा है. कई एटीएम पर कैश उपलब्ध ना होने के कारण देश में कैश की समस्या सामने आई है. सरकार इससे सकते में है और लगातार सफाई पेश कर रही है. मंगलवार को इकॉनोमिक अफेयर्स सेकेट्ररी सुभाष गर्ग ने कहा कि देश में भरपूर मात्रा में कैश मौजूद है, कोई भी संकट नहीं है.

उन्होंने कहा कि देश में इस समय 48000 करोड़ रुपए की डिमांड है और हमारे पास लगभग 2 लाख करोड़ रुपए रिजर्व में हैं ऐसे में किसी तरह का संकट नहीं है. उन्होंने कहा कि पिछले 15 दिनों में नोटों की छपाई में तेजी आई है.

सुभाष गर्ग बोले कि हम 500 रुपए के नोट अधिक मात्रा में छाप रहे हैं. उन्होंने कहा कि करीब 500 करोड़ रुपए की करेंसी रोजाना छप रही है और हमारा लक्ष्य रोजाना 2500 करोड़ रुपए छापने का है. हालांकि, इस बयान से सवाल भी उठता है कि अगर इतनी मात्रा में नोटों छप रहे हैं तो फिर कैश संकट कैसे सामने आया.

देश में एकदम उभरे इस कैश संकट के लिए सुभाष गर्ग ने ये तर्क दिए..

1. सिर्फ कुछ राज्यों में दिख रहा संकट

2. अचानक कैश निकासी की वजह से कुछ ही स्थानों पर अधिक समस्या

3. हमेशा 100 फीसदी एटीएम काम नहीं करते हैं, लगभग 1 से 2 फीसदी एटीएम काम में नहीं आते हैं.

4. बाज़ार में किसी तरह का कैश संकट नहीं, कुछ जगह पर स्थानीय समस्या की वजह से पैदा हुआ संकट

गौरतलब है कि देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से एटीएम में कैश न उपलब्ध होने से फिर नोटबंदी जैसी परेशानी का माहौल बनने लगा. लोगों की बढ़ती परेशानी को देखते हुए आखिरकार रिजर्व बैंक और सरकार को आगे आना पड़ा.

वित्तमंत्री ने भी दिया बयान

कैश संकट के इस मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि उन्होंने पूरी स्थिति की समीक्षा की है. देश में कैश की कमी नहीं है, सिर्फ कुछ जगहों पर अचानक मांग बढ़ जाने से ये दिक्कत सामने आई है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मुद्दे को लेकर सरकार पर हमला बोला है. अमेठी दौरे के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अच्छे दिनों का वादा किया था, लेकिन देश एक बार फिर कतारों में खड़ा है. क्या इन्हीं अच्छे दिनों की बात की जा रही थी. राहुल ने कहा कि हमें संसद में बोलने नहीं दिया जाता है, अगर मैं 15 मिनट संसद में भाषण दूं तो प्रधानमंत्री हमारे सामने खड़े नहीं हो पाएंगे.


Facebook Comments