गंगा की अविरलता के लिए समग्र गंगा अभियान

02.Manaw Shrinkhla

 

 

 

 

 

 

 

चन्दौली। धानापुर स्थित नरौली गंगा घाट पर समग्र गंगा अभियान के तहत समाजसेवीयों एवं स्थानीय लोगों

ने मानव श्रृंख्ला बनाकर गंगा को अविरल, निर्मल व स्वच्छ बनाने का प्रण लिया। कार्यक्रम को संबोधित

करते हुए डा0 हरेन्द्र राय ने कहा कि समग्र गंगा अभियान का मकसद सरकारों को मां गंगा को अविरल व निर्मल

बनाने का संदेश देना है। गंगोत्री से गंगा सागर तक मानव श्रृंख्ला बनाया जा रहा है। पूरे देश की जनमानस मां

गंगा को अविरल व निर्मल देखना चाहती है। सरकारों ने गंगा के निर्मलता पर तो कई योजनाएं चलायीं मगर उनका

परिणाम कुछ नहीं निकला। गंगा के निर्मलता के नाम पर करोड़ों का घपला हुआ है। गंगा पर बने बांधों को हटाया

जाए तथा कल कारखानों से निकलने वाले दूषित जल को साफ कर के ही गंगा में बहाया जाए। गंगा सिर्फ नदी नहीं

हमारे आस्था की प्रतीक है, मां है हमारी। दोपहर 1.05 बजे से 1.25 बजे तक सैकडों लोगों ने नरौली गंगाघाट पर दो

किलोमीटर का मानव श्रृंख्ला बनाया। इससे पहले बटुकों द्वारा स्वस्ति वाचन किया गया।

इस दौरान कमलाकांत मिश्र, डा0 अजीत सिंह, रामजी मिश्र, राजेश्वर सिंह, डा0 रामअनुज यादव, राणा प्रताप,

रामजी गुप्ता, रमेश सिंह, कमलेश कुमार मिश्र, बांके सेठ, डा0 अरविन्द मिश्र, सुर्फुद्दीन, सुरेन्द्र सिंह,

रविशंकर सिंह, रमेश दुबे, आरिफ खां, भवानी सिंह, आकाश पाण्डे, पवन सिंह, हृदय नरायण तिवारी, मृत्युंजय सिंह,

कामेश्वर दूबे, मिथलेश सिंह, जानकी देवी, मनोरमा, कविता वर्मा, लाजवंती देवी समेत सर्व समाज के सैकडों

लोगों मौजूद रहे।

एम. अफसर खां सागर