गोवा: BJP नेता की फैक्ट्री में मिली 100 KG ड्रग, कहा- मैंने तो रेंट पर दिया था

गोवा में बीजेपी नेता वासुदेव परब की फर्म पर पड़े राजस्व विभाग के छापे में कई खुलासे हो रहे हैं. उनके फर्म पर पड़े छापे में कुल 100 किलोग्राम कच्चा केटामाइन मिला था, जिसके बाद से ही काफी बवाल मचा है. आपको बता दें कि कच्चा केटामाइन गोवा में पूरी तरह से बैन है, जिसके बाद से ही बीजेपी नेता मुश्किलों में हैं.

इस मामले में पुलिस ने अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीं परब से पूछताछ भी की गई. DRI ने परब से करीब 6 घंटे तक पूछताछ की. आपको बता दें कि वासुदेव परब गोवा बीजेपी में महासचिव पद पर हैं. दरअसल, ऑपरेशन विटामिन के तहत DRI ने देशभर में करीब 14 जगहों पर छापेमारी की, जिसमें महाराष्ट्र, गुजरात और गोवा में छापेमारी की गई. इस दौरान कुल 308 किलोग्राम किटामेन जब्त किया गया.

‘मैंने सिर्फ किराए पर दी थी जगह’

हालांकि, परब से जब इंडिया टुडे ने बात की तो उन्होंने कहा कि जो भी चीज मिली है वह मेरी नहीं है. उन्होंने कहा कि वो जगह मेरी है लेकिन मैंने उस जगह को किराए पर दिया था. उन्होंने कहा कि एक टूरिस्ट ड्राइवर ने मुझसे किराए पर लेने की बात की थी, किसी कनाडा के व्यक्ति को ये किराए पर चाहिए था इसलिए मैंने वो जगह किराए पर दी.

हालांकि ये भी साफ है कि उन्होंने इस जगह को आधिकारिक तौर पर किराए पर नहीं दिया था बल्कि मौखिक तौर पर दिया था. बताया जा रहा है कि उन्हें किराए के तौर पर करीब 75,000 रुपए मिलते थे. लेकिन उन्होंने कभी भी आयकर विभाग में इसका जिक्र नहीं किया था. हालांकि, सफाई के बावजूद भी परब लगातार इसमें घिरते ही जा रहे हैं और राजनीतिक दलों के निशाने पर भी आ गए हैं.

गोवा कांग्रेस के नेता यतीश नाइक ने कहा कि सत्ताधारी दल के एक नेता का इस तरह एक ड्रग डील में पकड़ा जाना काफी चौंकाने वाला है. इसमें सरकार को जवाब देना चाहिए.

एक हफ्ते में नोटिस का जवाब देना होगा

DRI के शिकंजे के बाद अब वासुदेव परब के पास गोवा स्टेट इंडस्ट्रियल कॉर्पोरेशन की तरफ से भी नोटिस चला गया है. नोटिस में उनसे पूछा गया है कि आखिर उन्होंने किस आधार पर ये जगह रेंट पर दी थी. इस मुद्दे पर परब से एक हफ्ते के अंदर जवाब देने को कहा गया है.

बीजेपी ने कहा – परब की कोई गलती नहीं

वहीं विपक्षी हमले के बीच राज्य की बीजेपी इकाई ने भी इस पर सफाई जारी की है. गोवा की भाजपा इकाई का कहना है तटीय शहर में सरकार द्वारा आवंटित औद्योगिकी प्लॉट के होल्डर वासुदेव परब केटामाइन तैयार करने के धंधे में शामिल नहीं है. इसी जगह पर राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने छापेमारी कर केटामाइन के रेकैट का भंडाफोड़ किया था.

गोवा भाजपा अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने मंगलवार को कहा, “परब की इसमें एक फीसदी या 0.1 फीसदी भी हिस्सेदारी नहीं है, उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है. उन्होंने सिर्फ एक ही अपराध किया है कि उन्होंने बिना आईडीसी को बताए इस प्लॉट को किराए पर दे दिया. यह उनका अपराध है. हमें वासुदेव परब पर पूरा विश्वास है कि वह इस तरह की चीजों में शामिल नहीं हैं, वह भविष्य में भी इस तरह की चीजों में शामिल नहीं होंगे.”