चारा घोटाला: लालू के खिलाफ 15 मार्च को आएगा एक और फैसला, सुनवाई पूरी

बिहार के चारा घोटाला के दुमका मामले में फैसला 15 मार्च को सुनाया जाएगा। सोमवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव सहित अन्य आरोपी बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारागार से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सीबीआई की विशेष कोर्ट में पेश हुए।

आरोपियों की पेशी के बाद कानूनी बिंदु पर सुनवाई हुई। सुनवाई पूरी करते हुए अदालत ने फैसले की तिथि 15 मार्च निर्धारित की है।

दुमका मामले में लालू प्रसाद यादव के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र, पूर्व सांसद डॉक्टर आरके राणा, जगदीश शर्मा सहित 31 आरोपी हैं। बता दें कि लालू यादव पर चारा घोटाले के छह मामले दर्ज हैं।

जिसमें से कुछ मामलों में सजा सुनाई जा चुकी है। लालू यादव फिलहाल रांची स्थित बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में बंद हैं। यही से वो रोजाना सीबीआई की विशेष अदालत में हाजिरी लगा रहे थे।

याद दिला दें कि सीबीआई की विशेष अदालत ने गत वर्ष 23 सितंबर को लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई थी। अदालत ने चारा घोटाले के नियमित मामला 64ए/96 में यह आदेश सुनाया था जिसमें देवघर कोषागार से 89.27 लाख रुपये की अवैध निकासी की गयी थी।

जानें पूरा मामला

दुमका कोषागार से 3.76 करोड़ रुपये अवैध तरीके से निकाले गए थे। इस रकम की निकासी दिसंबर 1995 से जनवरी 1996 के मध्य हुई थी। शिकायत किए जाने पर सीबीआई ने 11 अप्रैल, 1996 को 48 आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। इस मामले में सीबीआई द्वारा दो चार्जशीट दी गई थी।

11 मई, 2000 को अदालत में पहली चार्जशीट दायर की गई थी। दूसरी चार्जशीट में सीबीआई ने एक नए आरोपी का खुलासा किया था। मामले में दो आरोपी सरकारी गवाह बन गए थे। वर्तमान में कुल 31 आरोपी अदालत में ट्रायल फेस कर रहे थे। इस मामले के ट्रायल के दौरान 14 आरोपियों की मौत हो चुकी है।