चिदंबरम फैमिली पर विदेश में 9 करोड़ की प्रॉपर्टी रखने का आरोप, IT विभाग की चार्जशीट

इनकम टैक्स विभाग ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम और उनके परिवार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 4 चार्जशीट दाखिल की हैं. विभाग ने शुक्रवार को चिदंबरम, उनके बेटे कार्ति, पत्नी नलिनी और बहू श्रीनिधि के खिलाफ ब्लैक मनी ऐक्ट के तहत चार्जशीट दाखिल की.

चिदंबरम एवं उनके परिवार पर करीब 9 करोड़ रुपये की विदेशी संपत्ति का खुलासा न करने को लेकर यह याचिका दाखिल की गई है. बताया जाता है कि इंपोजिशन ऑफ टैक्स ऐक्ट, 2015 के तहत विभाग ने चेन्नई की स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट फाइल की है.

नलिनी चिदंबरम, कार्ति और श्रीनिधि पर यूके के कैम्ब्रिज स्थित संपत्ति के बारे में खुलासा न करने को लेकर दायर किया गया है, जिसकी कीमत करीब 5.37 करोड़ रुपये है. इसके अलावा ब्रिटेन में ही इनका 80 लाख रुपये और अमेरिका में 3.28 करोड़ रुपये का निवेश है, जिसके बारे में इन लोगों ने पूरी तरह या आंशिक तौर पर जानकारी को छिपाने का काम किया. चार्जशीट में कहा गया है कि चिदंबरम परिवार ने टैक्स अथॉरिटी के समक्ष अपने इस इन्वेस्टमेंट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी.

कार्ति के अकाउंट से पैसे भेजे गए

चार्जशीट में गंभीर आरोप लगाते हुए आयकर विभाग ने कहा है, ‘चिदंबरम परिवार ने ब्रिटेन के 5, होलबेन क्लोज, बार्टोन में एक प्रॉपर्टी खरीदी है, जो 5.37 करोड़ रुपये मूल्य की है.’ आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि इस प्रॉपर्टी के लिए कार्ति चिदंबरम के निजी अकाउंट से लंदन के मेट्रो बैंक के एक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए गए.

परिवार ने इस खरीद के बारे में अपने टैक्स रिटर्न में कोई जानकारी नहीं दी. इसी तरह कार्ति चिदंबरम ने नैनो होल्ड‍िंग्स एलएलसी यूएस और लोटस टेनिस लिमिटेड यूके में क्रमश: 3.28 करोड़ रुपये और 80 लाख रुपये का निवेश किया है.

चेन्नई के सीएमएम कोर्ट में इसकी शिकायत दर्ज की गई है और आरोपियों को 11 जून को पूछताछ के लिए बुलाया गया है. हालांकि कार्ति और नलिनी दोनों ने ब्लैक मनी एक्ट के तहत किसी तरह के गलत कार्य से इंकार किया है.