दक्षिणी बीदरः क्या इस बार कांग्रेस के सहारे अशोक खेनी बचा पाएंगे अपनी सीट?

बहुआयामी प्रतिभा के धनी अशोक खेनी दक्षिणी बीदर से विधायक होने के साथ-साथ नंदी इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरिडोर इंटरप्राइजेज (एनआईसीई) के एमडी भी हैं. इसके अलावा वह इंडिया इंटरनेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर इंजीनियर्स (आईआईआईई) लिमिटेड के निदेशक भी हैं.

देवगौड़ा की आलोचना से बनी पहचान

वह बेंगलुरु-मैसूर इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरिडोर (बीएमआईसी) के लिए जमीन अधिग्रहण के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की खुलकर आलोचना करने के लिए जाने जाते रहे हैं. एनआईटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करने वाले खेनी एक बड़े बिजनेसमैन हैं.

राजनीति के अलावा वह क्रिकेट के बड़े फैन हैं. वह सिलेब्रेटी क्रिकेट लीग (सीसीएल) में कर्नाटक बुल्डोजर्स टीम के मालिक हैं. उनकी कार्टून के प्रति गहरी रुचि रही है. भारत में अपनी तरह के इकलौते इंडियन कार्टून गैलरी के लिए उन्होंने 5 हजार स्क्वायर फीट जमीन दान दे दी.

नागरिकता पर उठे थे सवाल

विधायक अशोक खेनी एक बार फिर से मैदान में हैं और इस बार वह कांग्रेस के टिकट पर लड़ रहे हैं. जबकि पिछली बार 2013 के चुनाव में उन्होंने कर्नाटक मक्काल पक्ष के टिकट पर जीत हासिल की थी. हालांकि इस बार वह कांग्रेस के साथ हैं.

इस बार नामांकन के दौरान उनकी नागरिकता को लेकर सवाल भी उठे और कई लोगों ने उनकी दावेदारी रद्द करने की मांग की थी, जिसे चुनाव अधिकारी ने ठुकरा दिया.

इस बार दक्षिणी बीदर विधानसभा क्षेत्र से 13 उम्मीदवार मैदान में हैं, लेकिन मुख्य चुनौती सत्तारूढ़ कांग्रेस और बीजेपी के बीच ही है. लेकिन 2013 के चुनाव में जेडीएस का उम्मीदवार दूसरे स्थान पर रहा था. बीजेपी की ओर से डॉक्टर शैलेंद्र बेल्डेल उम्मीदवार हैं.