दिल्ली पुलिस ने खोला चोरों के गुफा का रहस्य, पांच गिरफ्तार

अली बाबा 40 चोर की कहानी तो आपने सुनी ही होगी. ऐसा ही एक मामला राजधानी दिल्ली में सामने आया है. यहां एक गुफा की हैरान कर देने वाली कहानी सामने आई है. पुलिस करीब 3 महीने से एक ऐसे गैंग की तलाश में थी, जो पटेल नगर और आसपास के इलाकों में चोरी की वारदात से आतंक मचा रखा था. वारदात के बाद गैंगे लापता हो जाता था.

इस गैंग का खुलासा कुछ इस तरह हुआ. पुलिस ने पटेल नगर से सूरज नामक एक चोर को गिरफ्तार किया. उसने एक आईफोन चुराया था. फोन को ट्रेस करके पुलिस ने जब सूरज को पकड़ा तो उसने पूरी कहानी बयां कर दी. इससे पुलिस के सामने वो पहेली भी सुलझ गई, जो पिछले तीन महीने से पुलिस के लिए बड़ा सवाल बने हुए थी.

चोर के खुलासे के बाद पुलिस उसे लेकर उस ठिकाने तक पहुंची, जहां वारदात के बाद बदमाश छिप जाते थे. शंकर रोड पर स्थित पूसा गोलचक्कर से सटे एक कूड़ा घर के पास टीलानुमा जगह थी. वहीं पर एक गुफा बनी हुई थी. इसके अंदर जाने के लिए दो छोटे-छोटे सीवर के ढक्कन नुमा दरवाजे हैं. गुफा कई फुट गहरी और 20 मीटर लंबी है.

यह गुफा कीचड़ और गंदगी से पटी बेहद बदबूदार है, लेकिन चोरों के छिपने और मौज-मस्ती करने का अड्डा बनी हुई थी. सूरज ने बताया कि चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद चोर इस गुफा में आकर छिप जाया करते थे. इसके अंदर एक जगह चादर बिछाकर स्मैक, गांजा और अलग-अलग तरह के नशे करके मस्ती किया करते थे.

कई महीनों से पुलिस को इस गैंग की तलाश थी. इसी इलाके के पास के नशेड़ी चोर हैं, जो खाली घरों में मौका देखकर घुसते और लैपटॉप, मोबाईल फोन, महंगी घड़ियां चुराया करते थे. इसके बाद इसे सस्ते दामों पर किसी को भी बेच कर उससे अपने नशे की लत को पूरा किया करते थे. इनकी वजह इलाके के लोग तबाह हो गए थे. घर छोड़कर जाने से डरते थे.

इस गैंग का भंडाफोड़ करते हुए दिल्ली पुलिस ने 5 चोरों को गिरफ्तार किया है. इनके सूरज, अजय, असलम, जयप्रकाश और राजेन्द्र है. इनके पास से 10 महंगे लैपटॉप, 10 महंगे मोबाईल फोन और 6 ब्रांडेड घड़ियां बरामद कर ली गई हैं. इनसे पूछताछ के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इनके गैंग के और लोगों की तलाश की जा रही है.