पीठ दर्द से परेशान लक्ष्मण ने आज ही तोड़ा था कंगारुओं का गुरूर

आठ साल पहले आज ही के दिन वीवीएस लक्ष्मण ने एक बार फिर साबित कर दिया था कि वे अपने करियर के दौरान ‘वेरी वेरी स्पेशल’ क्यों रहे. 5 अक्टूबर 2010 को मोहाली टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया पर एक विकेट से रोमांचक जीत में लक्ष्मण ने बेशकीमती पारी खेली थी.

उस टेस्ट मैच की चौथी पारी में भारत को जीत के लिए 216 रन बनाने थे. 8 विकेट 124 रनों पर गिर गए थे, लेकिन लक्ष्मण ने एक छोर थामे रखा. इस दौरान उन्हें ईशांत शर्मा और प्रज्ञान ओझा का बेहतर साथ मिला और भारत ने ‘अविश्वसनीय जीत’ हासिल की.

दरअसल, कलात्मक बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने 73 रनों की वह बेशकीमती पारी तब खेली, जब वह पीठ दर्द से परेशान थे. उन्हें लक्ष्य का पीछा कर रही भारतीय टीम को संभालने के लिए सातवें नंबर पर उतरना पड़ा था और वह जीत दिलाकर ही लौटे.

16 साल के करियर के दौरान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लक्ष्मण का बल्ला हमेशा बोल. लक्ष्मण ने 11,125 इंटरनेशनल रन बनाए, जिनमें से 3,173 रन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रहे. उसी कंगारुओं के खिलाफ अभूतपूर्व 281 रनों की पारी ने उन्हें मशहूर बना दिया. उस पारी से पहले महज 28 का टेस्ट एवरेज रखने वाले लक्ष्मण ने बेदाग दोहरे शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया के 16 टेस्ट मैचों के विजय रथ को रोका था. राहुल द्रविड़ (180 रन) की लक्ष्मण के साथ फॉलोऑन पारी के दौरान 376 रनों की पार्टनरशिप यादगार रही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *