बिहार के दो परिवारों ने इराक से लाए पार्थिव शरीर को लेने से किया इंकार, जानें क्‍या है वजह

पटना: युद्धप्रभावित इराक से लाये गए छह में से पांच बिहारियों के शवों के अवशेषों को लेकर केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह विशेष विमान से सोमवार देर शाम पटना हवाईअड्डा पहुंचे. पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुष्प-चक्र अर्पित करके मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की और दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की. वहीं दो परिवारों ने अवशेष लेने से इंकार कर दिया है. यह दोनों परिवार सीवान के हैं.

मृतक सुनिल कुमार सिंह की पत्‍नी पूनम देवी का कहना है कि उनके पति अकेले घर में कमाने वाले थे और उनके जाने के बाद सरकार हमारे बच्‍चे को नौकरी दे. वहीं मृतक अदालत सिंह के भाई श्‍याम कुमार का कहना है कि हम अपने भाई के शव को लेकर तब तक घर नहीं जाएंगे जब तक सरकार हमारे परिवार की आर्थिक मदद का भरोसा नहीं देती है.

टिप्पणियां

उल्लेखनीय है कि श्रम संसाधन विभाग मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये सहायता राशि के रूप में उपलब्ध करा चुका है. हवाईअड्डे पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, कृषि मंत्री प्रेम कुमार, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय, श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, विधान पार्षद संजय मयूख, पुलिस महानिदेशक एस के द्विवेदी, गृह विभाग के प्रधान सचिव आमिर सुबहानी, श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव अतीश चंद्रा, जिलाधिकारी कुमार रवि, पटना के पुलिस महानिरीक्षक नैय्यर हसनैन खान, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज सहित कई गणमान्य व्यक्ति एवं वरीय अधिकारी उपस्थित थे.