बोर्ड एग्जाम से पहले आज नरेंद्र मोदी की परीक्षा पर चर्चा, 10 करोड़ स्टूडेंट्स को देंगे टिप्स

0 commentsViews:

नई दिल्ली.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देशभर के 10 करोड़ स्टूडेंट्स से बात करेंगे। 2 हजार स्कूलों में इसके लाइव टेलीकास्ट के लिए सेंट्रल बोर्ड अॉफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने सर्कुलर जारी किया है। इसमें कहा गया है कि स्कूल चर्चा में क्लास 6th से 12th तक के स्टूडेंट्स को शामिल करें। ताकि वे इसका इस्तेमाल कर एग्जाम सीजन में रिलेक्स होकर तैयारी कर सकें। बता दें कि प्रधानमंत्री ने बच्चों के लिए ‘एग्जाम वॉरियर’ किताब भी लिखी है। इसमें एग्जाम स्ट्रेस से निपटने और अच्छा परफॉर्म करने के लिए 25 मंत्र बताए हैं। देश में हर साल परीक्षाओं से तनाव में आए कई स्टूडेंट सुसाइड कर लेते हैं मोदी ‘मन की बात’ में इस पर चिंता जता चुके हैं।

10 बच्चों को मोदी से सीधे सवाल पूछने का मौका मिलेगा

– एचआरडी मिनिस्ट्री के मुताबिक, नरेंद्र मोदी दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में दोपहर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बच्चों से चर्चा करेंगे। पीएम के इस प्रोग्राम में देश के 2000 स्कूलों के 10 करोड़ स्टूडेंट्स शामिल होंगे। 10 बच्चों को नरेंद्र मोदी से सीधे सवाल पूछने का मौका मिलेगा।

– इससे पहले प्रोग्राम के लिए पीएम ने ट्विटर और @mygovindia पर लोगों से सुझाव बुलाए थे। स्टूडेंट्स नरेंद्र मोदी ऐप और सोशम मीडिया के जरिए हैशगैट #ExamWarriors के साथ परीक्षा की तैयारियों में तनाव को लेकर उनसे सवाल पूछ सकते हैं। मोदी ने ट्वीट में कहा था- ”परीक्षा के दौर में वॉरियर बनें न कि वरियर।”

स्टूडेंट्स को दिखाया जाएगा लाइव टेलीकास्ट

– बोर्ड के सर्कुलर के बाद देश के ज्यादातर स्कूलों में दो दिन पहले ही प्रोग्राम के टेलीकास्ट के इंतजाम कर लिए गए हैं। इसके लिए दूरदर्शन, पीएमअो वेबसाइट, यूट्यूब, फेसबुक, नरेंद्र मोदी ऐप के जरिए लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा।

– साथ ही बोर्ड ने इस मौके पर मौजूद टीचर्स की जानकारी के अलावा प्रोग्राम की 5-6 तस्वीरें अौर वीडियो भी भेजने को कहा है।

बोर्ड एग्जाम में स्टूडेंट्स को मिलेगी मदद

– मोदी की बुक ‘एग्जाम वॉरियर’ 3 फरवरी को लॉन्च हुई। 208 पेज की इस किताब को पेंग्विन पब्लिशिंग हाउस ने छापा है। इसकी कीमत 100 रुपए रखी गई है।

– बुक में 10th और 12th के बोर्ड एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स की परेशानियों पर फोकस है। पीएम ने इसमें बताया है कि नॉलेज हमेशा एग्जाम मार्क्स से ज्यादा अहम होती है।

– पीएम मोदी ने किताब को सीधे संवाद/बात करने के अंदाज में लिखा है। इसमें कई उदाहरण दिए हैं। साथ ही बच्चों को योगा और फिजिकल एक्टिविटीज की जरूरत बताई है।

मन की बात में भी कर चुके हैं स्टूडेंट्स की बात

– बता दें कि पीएम पहले भी मन की बात प्रोग्राम में बोर्ड एग्जाम की तैयारी करने वाले बच्चों को दबाव न लेने की सलाह दी थी। उन्होंने कहा था कि बच्चे प्रेशर नहीं बल्कि प्लेजर से पढ़ें। उन्होंने सचिन तेंदुलकर और अब्दुल कलाम का उदाहरण देकर बच्चों को हमेशा डटे रहने की सलाह दी थी।


Facebook Comments