महाकुम्भ मेले में डाक-सेवाओं का शुभारम्भ

0 commentsViews:

Director KK Yadav booking

 

 

 

 

 

 

कुंभ मेले में डाक सेवाओं के लिये नव वर्ष के प्रथम दिन से डाकघर कार्य करना आरंभ हो गये। परेड स्थित

सेन्ट्रल कुंभ मेला डाकघर एवं कुंभ मेला अधिकारी के कार्यालय का फीता काटकर कर उद्घाटन इलाहाबाद

परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने 1 जनवरी 2013 को किया। इस अवसर पर निदेशक ने

स्पीड पोस्ट आर्टिकिल की बुकिंग कर औपचारिक रूप से कुंभ मेला में डाक सेवाओं की शुरूआत की। प्रथम दिन ही

उद्घाटन पश्चात कुंभ मेले में प्रवास कर रहे साधु-संतों एवं अपने परिजनों से दूर रह रहे तमाम लोगों ने डाक द्वारा

अपने लोगों को नव वर्ष के ग्रीटिंग कार्ड एवं पत्र भेजे। इस दौरान 42 से ज्यादा स्पीड पोस्ट एवं लगभग 150

साधारण डाक की बुकिंग हुयी। सभी डाकघरों के पोस्टमास्टर अपने-अपने डाकघरों के समुचित संचालन हेतु

आवश्यक सामग्री लेकर रवाना हुये।

उद्घाटन पश्चात निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग ने इस बार वर्ष 2013 के कुम्भ में सुदूर

क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालु तीर्थ यात्रियों और साधु-संतों के लिए डाक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए तमाम

तैयारियाँ की हैं। कुंभ मेले में डाक विभाग द्वारा ग्रुप बी स्तर का राजपत्रित कुंभ मेला अधिकारी नियुक्त किया

गया है और यह जिम्मेदारी वाराणसी (पश्चिमी) मंडल के डाक अधीक्षक श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव को दी

गयी है। इस वर्ष कुंभ मेला क्षेत्र में 14 सेक्टरों को कवर करने हेतु 10 डाकघर एवं आवश्यकतानुसार 4 मोबाइल

डाकघर खोले जा रहे हैं । केन्द्रीय डाकघर की स्थापना परेड में की गयी है, वहीं अन्य डाकघर संगम उत्तरी, संगम

दक्षिणी, संगम सेन्ट्रल, गंगाद्वीप, फोर्ट रोड, परेड पश्चिम, अरैल, झूँसी, झूँसी दक्षिणी में खुले हैे। इन डाकघरों

में सामान्य डाक सेवाएं, रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट, मनीआर्डर, पार्सल, फिलेटली, डाक जीवन बीमा और ग्रामीण

डाक जीवन बीमा इत्यादि सुविधाएं मुहैय्या कराई जाएंगी। मेले में आने वाले करोड़ों स्नानार्थियों और साधुसंतों के

मनीआर्डर और पार्सल डाक विभाग के लिए राजस्व प्राप्ति का बड़ा साधन होंगे। एक तरफ तो इन सुविधाओं के

द्वारा मेले में मौजूद लोग अपना पैसा और सामान मँगा सकेंगे, तो दूसरी तरफ डाक विभाग भी कुंभ में अपने लिए

अच्छा राजस्व संग्रह कर सकेगा। गौरतलब है कि इस कुंभ मेले में 10 करोड़ से ज्यादा तीर्थ यात्रियों के आने की

सम्भावना है।

कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं एवं साधु-संतों के डाक, पार्सल, मनीआर्डर इत्यादि का वितरण केन्द्रीय रूप में

सेन्ट्रल कुंभ मेला डाकघर द्वारा किया जायेगा, जिसका पिनकोड 211020 है। निदेशक श्री यादव ने बताया कि

आने-जाने वाली डाक को स्पीडनेट व आरनेट से भी जोड़ा जा रहा है ताकि लोगों को उनके निस्तारण की स्थिति पता

लग सके। यही नहीं लोगों की सुविधा हेतु विभिन्न सेक्टरों में 14 लेटर बाक्स भी लगाये जा रहे हैं। डाक के

आवागमन हेतु मेल मोटर सेवा भी आरंभ की गयी है, ताकि डाक का त्वरित निस्तारण हो सके। डाक विभाग ने

फिलहाल कुम्भ क्षेत्र में डाकघरों के संचालन हेतु 52 अधिकारियों व कर्मचारियों को लगाया है, इसके अलावा

आवश्यकतानुसार अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों की सेवायें भी ली जायेंगीं।

इस कुंभ मेले में गंगा-यमुना एवं अदृश्य सरस्वती के संगम में नाव पर चल रहे सचल डाकघर आकर्षण के केंन्द्र

बिंदु होंगें । श्री यादव ने बताया कि गंगा, यमुना व सरस्वती की मध्य जलधारा में सचल इन डाकघरों का उद्देश्य

नाव से आने-जाने वाले स्नानार्थियों को, जल में भी, स्नान करते समय डाकीय सुविधा प्रदान करना है। यही नहीं,

इन सचल डाकघर नौकाओं में पत्र पेटिकायें भी लगायी जायेंगीं, जिसमें स्नान करते समय भी पत्र डाला जा सके।

यदि कोई आस्थावान व्यक्ति चाहे तो वाटरप्रूफ लिफाफे के साथ डुबकी लगाकर उसे बहती जलधारा में नाव पर

स्थित लेटर बाक्स में पोस्ट कर सकता है। डाक विभाग इन लिफाफों पर उस दिन की तारीख के साथ एक विशेष

मुहर लगाकर गन्तव्य के लिए रवाना करेगा। वाकई यह एक अद्भुत एवं यादगार धरोहर होगी।

निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग इस कुंभ मेले को ऐतिहासिक बनाने के लिए

छः प्रमुख स्नानों पर विशेष विरूपण सहित छः विशेष आवरण (डाक लिफाफा) जारी करेगा। इन्हें प्रमुख स्नानों-

मकर संक्राति (14 जनवरी 2013), पौष पूर्णिमा (27 जनवरी, 2013), मौनी अमवस्या (10 फरवरी, 2013), वसंत

पंचमी (15 फरवरी, 2013), माघ पूर्णिमा (25 फरवरी, 2013), महाशिवरात्रि (10 मार्च, 2013) पर जारी किया

जायेगा। इन विशेष आवरण पर डिजाइन के रूप में कुम्भ की विरासत एवं प्रमुख स्नान पर्वों की आध्यामिकता के

दर्शन होंगे। इन लिफाफों को जारी किये जाने वाले दिन विशेष विरूपण (स्टैम्प कैंसिलेशन) से अंकित किया जायेगा

एवं हर विशेष विरूपण पर प्रमुख स्नान की तिथि भी अंकित जाएंगी। इससे पूर्व भी विभिन्न कुंभ मेलों के दौरान

विशेष आवरण जारी हुये है, लेकिन यह पहली बार होगा कि जब हर प्रमुख स्नान पर एक विशेष आवरण जारी किया

जायेगा। ऐसे में महाकुंभ मेले में देश-विदेश से आने वाले करोड़ों श्रद्धालु एवं पर्यटक इन लिफाफों को प्रयाग

महाकुंभ की यादगार व धरोहर के रूप में अपने साथ ले जा सकेंगे।

इस दौरान कुंभ मेला अधिकारी (डाक) श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव के अलावा इलाहाबाद मंडल के प्रवर डाक

अधीक्षक श्री रहमतउल्लाह, प्रवर रेल डाक अधीक्षक श्री ए पी तिवारी, सहायक निदेशक श्री मधुसूदन

मिश्रा, श्री आर एन यादव सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

एम. अफसर खां सागर

 


Facebook Comments