मार्च के दौरान धक्का-मुक्की, कार्यकर्ताओं पर भड़कीं प्रियंका गांधी

राहुल गांधी द्वारा इंडिया गेट पर बुलाए गए कैंडल मार्च के दौरान प्रियंका गांधी को भीड़ का सामना करना पड़ा. मार्च के दौरान प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने धक्का-मुक्की की, जिसके बाद प्रियंका ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जमकर खरीखोटी सुनाई.

मार्च के दौरान प्रियंका को चारों तरफ से कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने घेर लिया था और भीड़ के कारण वो बाहर नहीं निकल पा रहीं थीं. धक्का-मुक्की के दौरान वे डर गईं. वीडियो में डरी हुईं प्रियंका कोहनी मारकर आगे बढ़ते हुए दिखाई दीं.

इस दौरान उनकी बेटी भी भीड़ में फंस गईं थी और डरकर रोने लग गई थी, जिसके बाद प्रियंका बैरीकेड को धक्का देते हुए आगे बढ़ीं और अपनी बेटी को चुप कराकर गले लगाया और भीड़ से बाहर निकाला.

प्रियंका ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर आग-बबूला होते हुए कहा कि आप खुद से पूछिए आप यहां क्या करने आए हैं और क्या कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिसे धक्का मारना है वो घर चला जाए, नहीं तो शांति के साथ आगे आएं.

प्रियंका ही नहीं, राहुल गांधी को भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा. इसके बाद एसपीजी ने राहुल को कुछ देर के लिए गाड़ी में बैठा लिया. हालांकि, इसके बाद राहुल बाहर आए और वहां मौजूद लोगों से बातचीत की.

इस दौरान रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि हम सब भारतीय हैं, हम सब बदलाव चाहते हैं कि हमारी मां, बहन, बेटियां सुरक्षित महसूस करें. हमें उन लोगों के लिए न्याय चाहिए जिनका रेप हो रहा है और कोई सुनवाई नहीं हो रही है. हम यहां इसलिए हैं ताकि देश हमें सुन सके.

बता दें कि कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार में महिलाओं की असुरक्षा व शर्मनाक घटनाओं के खिलाफ इंडिया गेट पर मिडनाइट कैंडल मार्च निकाला है. इस मार्च में राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी, रॉबर्ट वाड्रा, निर्भया के माता-पिता, कांग्रेस नेता अशोक गहलोत समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. साथ ही यहां सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता इंडिया गेट पर मौजूद थे.