मुंबई हमले की पोल खोलने के बाद नवाज की पलटी- मैंने बस सवाल पूछा था

मुंबई आतंकी हमले पर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हकीकत क्या बयां की, पूरे देश में खलबली मच गई. आनन-फानन ने पाकिस्तानी सेना के कहने पर राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC) की आपात बैठक बुला ली गई. इसके साथ ही नवाज शरीफ की पार्टी PML-N ने उनका बचाव करते हुए कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है.

वहीं, पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने मुंबई हमले पर दिए अपने बयान पर न तो यूटर्न लिया और न ही माफी मांगी है. हालांकि उन्होंने अपने बयान को सवालिया अंदाज में ढाल कर सफाई देने की कोशिश की है.

पाकिस्तान में मामले को लेकर विवाद बढ़ने पर नवाज शरीफ ने कहा कि उन्होंने यह स्वीकार नहीं किया है कि मुंबई हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ था. उन्होंने कहा, ”मैंने मुंबई हमले पर सवाल किया था. मुझे इसके जवाब की जरूरत है.”

पाकिस्तान में तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके नवाज शरीफ ने कहा कि किसी भी बात को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जाता है, जिसकी वजह से दुनिया पाकिस्तान का पक्ष नहीं सुनती है. उन्होंने कहा कि यह सवाल किया जाना बेहद जरूरी है कि आखिर ऐसा क्यों है?

 शरीफ ने कहा कि मुंबई हमले पर सवाल करने पर मीडिया में उनको देशद्रोही करार दिया जा रहा है.

उधर, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में वहां के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा, चेयरमैन ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी जनरल जुबैर महमूद हयात और डायरेक्टर जनरल इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI) लेफ्टिनेट नवीद मुख्तार के अलावा नौसेना और वायुसेना के प्रमुख समेत अन्य सैन्य और खुफिया अधिकारी शामिल रहे. यह बैठक अब्बासी के आवास पर आयोजित हुई.