मोदी के मुकाबले राहुल? जानिए इस सवाल का राजनाथ ने क्या दिया जवाब

019 के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने विपक्ष का चेहरा क्या राहुल गांधी होंगे? इस सवाल पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आजतक से कहा कि पीएम मोदी के सामने दूर-दूर तक कोई चेहरा नहीं है. उन्होंने कहा कि लंबी मेंटल एक्सरसाइज के बाद भी मोदी के सामने राहुल को चेहरा बताना मुश्किल है. राजनाथ ने कहा कि ये सवाल किसी से भी पूछिए कोई भी इसका उत्तर नहीं दे पाएगा. राहुल गांधी के परिपक्व होने पर उन्होंने कोई टिप्पणी करने से मना किया.

‘बीजेपी 2019 के लिए तैयार’

राजनाथ ने कहा कि 2019 चुनाव के लिए हमारी पूरी तैयारी है. दोबारा से हमारी सरकार बनेगी और सीटों के नंबर भी अच्छे खासे आएंगे. विपक्ष के एकजुट होने पर उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में विपक्ष ये मानता है कि इस देश में सबसे बड़ा कोई नेता है तो नरेंद्र मोदी ही हैं. इसी के चलते विपक्षी दल एकजुट हो रहे हैं.

‘मोदी से डरे हैं विपक्षी’

राजनाथ सिंह ने कहा कि मोदी के डर और दहशत के चलते विपक्ष एक साथ आने की कोशिश कर रहा है. टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के वन-टू-वन फॉर्मूले के सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष जो करना चाहता है वो करे, हमारी पार्टी उसपर तवज्जो नहीं देती है. लेकिन गोरखपुर-फूलपुर में जो हुआ है वह दोबारा न हो इसके लिए हमने अपनी तैयारी कर ली है.

राजनाथ ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह 2019 में भी कई राज्यों में क्लीन स्विप करेंगे. देश के लोगों का जन समर्थन हमारे साथ ही है. 2019 के लिए हम लोग पूरी तरह से आश्वस्त हैं. किसी तरह की कोई चुनौती नहीं है.

15 दिन में बदल जाएगा माहौल

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव पर राजनाथ सिंह ने कहा कि अभी समय है. सियासी हालात बदलना चाहते हैं तो 15 दिन में बदल जाता है. तीनों राज्यों में हमारी दोबारा से सरकारें बनेंगी.

दलित बीजेपी के साथ

राजनाथ सिंह ने कहा कि इस बार भी दलित हमें ही बढ़ चढ़कर वोट देंगे. अगर आप पिछली सरकार और अब की सरकार की तुलना करेंगे तो अंतर साफ दिखेगा. उन्होंने कहा कि कुछ घटनाएं हुई हैं, कुछ ताकतों ने मामले को बढ़ाने की कोशिश की है. दलित जब गंभीरतापूर्वक विचार करेंगे तो खुद समझ जाएंगे कि हमारी सरकार ने उनके हक में काफी अच्छा काम किया है. उन्होंने कहा कि 2 अप्रैल को छोटी-मोटी घटनाएं हुई हैं.