ये हैं फेमिना मिस इंडिया 2018 की फर्स्ट रनर अप मीनाक्षी, जीता हरियाणा का दिल

इस साल मिस इंडिया 2018 का खिताब अनुकृति वास ने अपने नाम किया है. वहीं मिस इंडिया 2018 की फर्स्ट रनरअप मीनाक्षी चौधरी है. जो रिटायर्ड आर्मी की बेटी हैं. भले ही वह इस साल मिस इंडिया का खिताब नहीं जीत पाई लेकिन उन्होंने हरियाणा के साथ पूरे देश का दिल जीत लिया. आइए जानते हैं कैसे एक आर्मी अफसर की बेटी पहुंची मिस इंडिया के मंच तक.

मीनाक्षी हरियाणा की रहने वाली है और डॉक्टर बनना चाहती है. अपनी कड़ी मेहनत और लगन के दम पर मीनाक्षा मिस इंडिया फेमिना के मंच पर तो पहुंच गई लेकिन खिताब अपने नाम करने में असफल रही. आज भले ही खिताब उनके नाम न हो लेकिन यहां तक पहुंचना उनका ये सफर आसान नहीं था. आपको बता दें, मीनाक्षी चौधरी ब्यूटी वर्ल्ड के लिए नया नाम नहीं है. मीनाक्षी एफबीबी कैम्पस प्रिंसेस 2018 की फाइनलिस्ट रह चुकी हैं.

ऐसा है उनका परिवार

मीनाक्षी हरियाणा की रहने वाली है और उनका जन्म चंडीगढ़ में हुआ है. उनके पिता भारतीय सेना से रिटायर्ड अफसर हैं और मां हाउसवाइफ हैं.

पढ़ाई

मीनाक्षी की स्कूलिंग सेंट सोल्जर कॉन्वेंट स्कूल, चंडीगढ़ से हुई है. अभी वह नेशनल डेंटल कॉलेज डेराबस्सी की स्टूडेंट हैं और बीडीएस की पढ़ाई कर रही हैं.

मीनाक्षी चौधरी ने बताया कि वह अपने लक्ष्य को लेकर काफी सीरियस हैं.  कमाल की बात ये है कि एक मॉडल होने के साथ वह एक बैडमिंटन खिलाड़ी भी हैं. उन्होंने राज्य स्तरीय बैडमिंटन और स्विमिंग कॉम्पिटिशन में हिस्सा लिया है. इसी के साथ उन्हें घूमना फिरना भी काफी पसंद है. वह बताती हैं कि उन्हें कविता पढ़ने और लिखने का भी काफी शौक हैं. बता दें, मीनाक्षी पढ़ाई में काफी अच्छी है लेकिन लेकिन हाइट और पर्सनालिटी की वजह से वे मॉडलिंग की दुनिया में कदम रखा.

बीते मंगलवार 19 जून की रात को मुंबई के एनएसईआई, डोम, वर्ली में कलर्स फेमिना मिस इंडिया 2018 का आयोजित किया गया था. जिसमें तमिलनाडु की 19 वर्षीय अनुकृति वास ने ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’ का ताज अपने नाम किया. मीनाक्षी चौधरी फर्स्ट रनर-अप और आंध्र प्रदेश की रहने वाली श्रेया राव सेंकड रनर-अप रहीं.