रश्मि एन शाह – बाल दिवस – साप्ताहिक प्रतियोगिता

0 commentsViews:

ओ विश्व शांति के अग्रदूत,
लिए मशाल स्वतंत्रता की,
तुम थे भारत के भाग्य विधाता।
अपने अंदर के बच्चे को
जीवित रखना था तुमको
इसीलिए तो  दिया बच्चों को
जन्मदिवस अपना युगदाता।।
बाल दिवस के शुभ अवसर पर
हमें याद तुम्हारी आती है
नेहरु चाचा तुम्हें देखकर
एक खुशी सी छा जाती है।
एक गुलाब था प्यारा तुमको
तुम तो गुलाब से भी थे प्यारे
बच्चों के संग खेल खेल में
सिखलाते गुरु जीवन के सारे।
हम छोटे छोटे प्यारे बच्चे
उज्जवल भविष्य देश का
दूर करेंगे हम ही अंतर
रंगभेद और द्वेष का
कर्णधार हम बच्चे कल के
भावी पीढ़ी भारत की
लाएंगे नूतन परिवर्तन
नई शुरुआत फिर नए भारत की।।
नेहरु चाचा प्रण करते हम
देश का ऊंचा नाम करेंगे
स्वप्न हमारा आस तुम्हारी
हम ही तो साकार करेंगे।।
जय हिंद।।


Facebook Comments