राजौरी से घुसपैठ कराने की फिराक में PAK, तैनात किए मुजाहिद बटालियनः सूत्र

कश्मीर सुरक्षा बलों की ओर से लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन से पाकिस्तान बुरी तरह से बौखला गया है. सीमापार से आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर के पास पाकिस्तान खास तैयारी में जुटा हुआ है. उसकी योजना फॉरवर्ड डिफेंस लोकेशन से घुसपैठ कराने की है.

खुफिया रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान घुसपैठ के लिए लगातार नई जुगत लगाने की कोशिश कर रहा है. पाक राजौरी सेक्टर के सामने अपनी एफडीएल (फॉरवर्ड डिफेंस लोकेशंस) मजबूत कर रहा है. साथ ही उसने पाक अधिकृत कश्मीर में राजौरी सैक्टर के पास एयर डिफेंस गन, आर्टिलरी और 102 MM मोर्टार तैनात किया है.

कवर फायरिंग के लिए पाक तैयार

यह भी खुलासा हुआ है कि फॉरवर्ड डिफेंस लोकेशन ‘जब्बार’ से घुसपैठ के लिए कवर फायरिंग देने के लिए ‘642 मुजाहिद बटालियन’ भी तैनात किया गया है. अपनी सीमा से आतंकी घुसपैठ कराने के लिए पाक सेना उन्हें कवर फायरिंग देती है.

खुफिया सूत्रों के मुताबिक आतंकियों को भारतीय सीमा में दाखिल कराने के लिए पाकिस्तान ने 3 और जगहों (पीर कालंजर, डोतिल्ला, केजी टॉप) पर कवर फायर के लिए क्रमशः 801, 701 और 656 मुजाहिद बटालियन को तैनात किया है. पाक सेना राजौरी सेक्टर से सबसे ज्यादा घुसपैठ कराने की फिराक में है.

राजौरी सेक्टर के सामने पीओके में पाक सेना और आईएसआई ने 4 बड़े लॉन्चिंग पैड भी तैयार कर लिया है. कहा जा रहा है कि इस इलाके में करीब 80 आतंकी तैयार किए जा चुके हैं.

80 आतंकी घुसपैठ को तैयार

सूत्रों के मुताबिक इन 80 आतंकियों को कोटली, लानजोटे, निकैल और खुरेट्टा के लॉन्चिंग पैड पर इकट्ठा किया गया है. खुफिया रिपोर्ट कहती है कि हाल ही में निकैल लॉन्च पैड के पास 25 से 30 पाकिस्तानी एसएसजी कमांडो भी रेकी करने के लिए आए थे. ये कमांडो फॉरवर्ड डिफेंस लोकेशन की रेकी कर भारतीय सुरक्षा बलों की लोकेशन और तैयारी की जानकारी हासिल करने की फिराक में थे. ये सभी लोकेशन राजौरी सेक्टर के सामने पीओके में पड़ता है, जहां से पाक की ओर से घुसपैठ कराने की बड़ी योजना बनाई जा रही है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान सर्दियों में इस साल आतंकी घुसपैठ कराने में नाकाम रहा, इसलिए उसकी अगली कोशिश अब इन गर्मियों में घुसपैठ कराने की है. खुफिया रिपोर्ट इस ओर इशारा करती हैं कि जम्मू-कश्मीर के कृष्णा घाटी बिम्बर गली, पुंछ, राजौरी, नौशेरा और दूसरी जगहों पर आतंकियों को इकट्ठा कर पाक घुसपैठ करा सकता है.

भारत की तर्ज पर ट्रेनिंग

यही नहीं कश्मीर में जिस तरीके से पाक आतंकवादियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन भारतीय सुरक्षाबल कर रहे हैं, उसी अंदाज में पाकिस्तान चाहता है कि जो भी आतंकी घुसपैठ करें उनको उसी तरह की खास तरीके की ट्रेनिंग दी जाए.

खुफिया सूत्रों ने इस ओर भी इशारा किया है कि कुछ पाकिस्तानी आतंकी जम्मू-कश्मीर में मौजूद हैं. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई उन आतंकियों को कश्मीर घाटी में मौजूद अपने ट्रेंड आतंकियों से नए तरीके की ट्रेनिंग जंगलों में दिलाने फिराक में है, जिससे आतंकी सुरक्षाबलों से मुकाबला कर सके क्योंकि इस समय आतंकियों के हौंसले पस्त हैं और सुरक्षा बल लगातार ऑपरेशन कर रहा है. वैसे में नापाक साजिश रचने के लिए पाक फिर से आतंकियों को खास ट्रेनिंग दिलवाने की फिराक में है.