राज्यपाल ने BJP को दिया सरकार बनाने का न्योता तो कांग्रेस उठाएगी ये 3 कदम

कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर राजनीतिक पार्टियों की जोर आजमाइश चल रही है. नतीजों में भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, लेकिन कांग्रेस और जेडीएस के एक हो जाने से बहुमत उनके पास है. बीजेपी कह रही है कि राज्यपाल वजुभाई वाला को सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते उन्हें ही सरकार बनाने के लिए बुलाना चाहिए. वहीं कांग्रेस ने भी ऐसी स्थिति पैदा होने पर अपनी तैयारी शुरू कर दी है. अगर राज्यपाल बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता देते हैं तो कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकती है.

अगर राज्यपाल बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता देते हैं तो कांग्रेस इन कदमों को उठा सकती है.

1. गवर्नर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका

2. गवर्नर के सामने विधायकों की परेड

3. जरुरत पड़े तो राष्ट्रपति की शिकायत, राष्ट्रपति के सामने ही विधायकों की परेड

बीजेपी को न्योता देंगे राज्यपाल!

बीजेपी सूत्रों के अनुसार, आज शाम को राज्यपाल कानूनी सलाह के बाद येदियुरप्पा को शपथ के लिए निमंत्रण दे सकते हैं. जिसके बाद येदियुरप्पा गुरुवार को शपथ लेंगे. राज्यपाल येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए एक हफ्ते का समय दे सकते हैं.

100 करोड़ रुपए में विधायक खरीद रही है बीजेपी

जेडीएस के कुमारस्वामी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी हमारे विधायकों को खरीदने के लिए 100 करोड़ रुपए की पेशकश कर रही है. बीजेपी के पास नंबर नहीं हैं, हमारे पास बहुमत का पूरा आंकड़ा है. उन्होंने कहा कि उनके कुछ विधायकों को 100 करोड़ और कैबिनेट मंत्री का पद का ऑफर दिया जा रहा है.

…तो हो जाएगा खून-खराबा!

बेंगलुरु में मौजूद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि बीजेपी उनके विधायकों को धमका रही है. उन पर दबाव बना रही है, उसे लोकतंत्र में भरोसा नहीं है. आजाद ने कहा कि अगर राज्यपाल ने संवैधानिक मूल्यों का पालन नहीं किया और हमें सरकार बनाने के लिए निमंत्रित नहीं किया, तो यहां खूनी संघर्ष होगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायकों के असंतुष्ट होने की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, लेकिन वास्तव में बीजेपी असंतुष्ट है.

नतीजों में बीजेपी बनी है सबसे बड़ी पार्टी

मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों में 104 सीटों के साथ बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, जबकि कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37 सीटें मिलीं. इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी और कर्नाटक प्रज्ञयवंथा जनता पार्टी को क्रमशः 1-1 सीटें मिली हैं. इनके अलावा एक सीट अन्य के हिस्से में भी आई है.