रोहित की बैटिंग टीम इंडिया की चिंता, 5 पारियों में हैं सिर्फ 49 रन

0 commentsViews:

कप्तान रोहित शर्मा आज टी-20 ट्राई सीरीज में अपने तीसरे मैच में मेजबान श्रीलंका के खिलाफ फॉर्म में वापसी को बेताब होंगे. जिसमें भारतीय टीम हर हालत में जीत दर्ज करना चाहेगी. कार्यवाहक कप्तान रोहित का खराब फॉर्म दक्षिण अफ्रीका सीरीज के शुरू से चल रहा है. वह आत्मविश्वास हासिल करने के लिए तेजी से रन जुटाना चाहेंगे.

ऋषभ पंत भी नहीं चल रहे, लोकेश राहुल इंतजार में

रोहित का फॉर्म चिंता का विषय बना हुआ है, जिन्होंने अंतिम पांच टी-20 मैचों में 17, 0, 11, 0 और 21 रन बनाए हैं. टूर्नामेंट में ऋषभ पंत (7 और 23 रन) को एक और मैच दिए जाने पर भी विचार किया जा सकता है. पंत को हालांकि अपनी काबिलियत साबित करनी है, लेकिन लोकेश राहुल जैसा खिलाड़ी भी मौके का इंतजार कर रहा है. राहुल की मौजूदगी कप्तान को उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर इस्तेमाल करने का मौका दे सकती है, जिससे वह पंत को अंतिम एकादश से बाहर कर खुद चौथे स्थान पर बल्लेबाजी कर सकते हैं.

भारत की दूसरे दर्जे की टीम के लिए इस टूर्नामेंट में शुरुआत अच्छी नहीं रही, क्योंकि उन्हें शुरुआती मैच में मेजबानों से पांच विकेट की पराजय झेलनी पड़ी थी. लेकिन रोहित की अगुवाई वाली टीम ने अगले मैच में शानदार वापसी करते हुए बांग्लादेश को छह विकेट से मात दी. इसलिए आज का मैच भारत को शुरुआती मैच में की गई गलतियों को सुधार करने का मौका देगा.

टूर्नामेंट में अभी सभी तीनों टीमों के पास बराबरी का मौका है, क्योंकि सभी ने दो मैचों में से एक-एक मैच जीते हैं. लेकिन श्रीलंकाई टीम नेट रन रेट में भारत और बांग्लादेश से आगे शीर्ष पर है. लेकिन आज की जीत भारत को श्रीलंका को हटाकर शीर्ष पर पहुंचा देगी.

धवन शानदार लय में, लगातार कर रहे दम दार बैटिंग

सलामी बल्लेबाज शिखर धवन शानदार फॉर्म में हैं, उन्होंने अभी तक टूर्नामेंट में लगातार दो अर्धशतक जड़े हैं. श्रीलंका के खिलाफ सलामी बल्लेबाज ने 49 गेंद में 90 रन बनाए और इसके बाद 43 गेंद में 55 रन की पारी से भारत ने दूसरे मैच में बांग्लादेश को आसानी से शिकस्त दी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में धवन का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा, लेकिन प्रोटियाज के खिलाफ सीमित ओवर के शुरू में उन्होंने फॉर्म हासिल कर लिया, जिसके बाद से उन्होंने अंतिम पांच टी-20 में 55, 90, 47, 24 और 72 रन बनाए. अन्य भारतीयों में मनीष पांडे (37, 27) अच्छी लय में दिख रहे हैं, वह वापसी करने वाले सुरेश रैना और दिनेश कार्तिक के साथ मध्यक्रम की जिम्मेदारी संभालेंगे.

उनादकट पर नजरें, गैर अनुभवी बॉलर भी कर रहे अच्छा

गेंदबाजी में जयदेव उनादकट को लगातार प्रदर्शन करने की जरूरत है. इस गेंदबाज ने दो मैचों में अभी तक 4 विकेट चटकाए हैं, लेकिन काफी रन भी लुटाए. युवा और गैर अनुभवी भारतीय गेंदबाजों ने अभी तक अच्छी गेंदबाजी की, जिसमें वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल और विजय शंकर उम्मीदों पर खरा उतर रहे हैं.


Facebook Comments