लंगर सामान पर GST की छूट के लिए नीतीश ने केंद्र को कहा धन्यवाद

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार द्वारा लंगर में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री को जीएसटी के दायरे से बाहर करने के लिए आभार व्यक्त किया है. इसी सप्ताह के शुरुआत में नरेंद्र मोदी सरकार ने धार्मिक लंगरों को लेकर एक बड़ा फैसला किया और ऐलान किया कि अब से लंगर में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री जीएसटी के दायरे से बाहर होगी.

लंगर में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री को जीएसटी के दायरे से बाहर रखने को लेकर पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी थी और आग्रह किया था कि धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए लंगर में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री को केंद्र सरकार जीएसटी के दायरे से बाहर करें.

नीतीश कुमार ने ट्वीट करते हुए कहा कि लंगर में उपयोग की जाने वाली राशन सामग्री पर जीएसटी के तहत छूट देने के उनके अनुरोध को मानने और इस सकारात्मक पहल के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद और आभार.

गौरतलब है, पिछले कुछ दिनों से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने को लेकर नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के ऊपर दबाव बनाना शुरू किया था और इस मुद्दे को लेकर भाजपा और जदयू के बीच कुछ तनातनी भी देखने को मिल रही थी. हालांकि, जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव में जेडीयू को मिली करारी हार के बाद नीतीश कुमार का यह कदम केंद्र की भाजपा के साथ बेहतर सामंजस्य स्थापित करने के रूप में देखा जा रहा है.

यहां यह बता दे कि जोकीहाट में जदयू के चुनाव भी हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने भाजपा पर हमला बोल दिया था और आरोप लगाया था कि भाजपा और उसके सहयोगी दलों के बीच में सामंजस्य की कमी है और चुनावी साल में भाजपा को अपने सहयोगी दलों के साथ बेहतर तालमेल बनाना चाहिए.