लखनऊ में मोदी: योगी सरकार की पहली इन्वेस्टर समिट की करेंगे शुरुआत, 5 लाख Cr के निवेश का दावा

लखनऊ. नरेंद्र मोदी आज लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ‘यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018’ (UPIS) की शुरुआत करेंगे। समिट 2 दिनों तक चलेगी और इसमें दुनियाभर के 5 हजार उद्योगपति शामिल होंगे। योगी सरकार का दावा है कि इस समिट के जरिए प्रदेश के 20 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा। उम्मीद की जा रही है कि इस दौरान 900 एमओयू पर साइन होंगे। इस दौरान मोदी के अलावा केंद्र के 19 मंत्री स्पीच देंगे। इनके अलावा बिजनेस लीडर्स, निवेशक और विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी हस्तियां भी स्पीच देंगी। प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा, इस समिट के जरिए हमने 5 लाख करोड़ रुपए के निवेश और 20 लाख से ज्यादा रोजगार देने का टारगेट रखा है।

 

यूपी इन्वेस्टर्स समिट, 8 प्वाइंट्स

1. कहां हो रही है समिट?

– लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में समिट हो रही है।

2. तैयारी क्या है?
– 5000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है।
– 4000 गमले लगाए गए हैं सुंदरता बढ़ाने के लिए।
– 600 पुलिसकर्मी और स्नाइपर सुरक्षा के लिए तैनात होंगे।
– 525 कारें, 50 बसें लगाई गईं। 36 होटलों में मेहमान रुकेंगे।

3. मकसद क्या है?
– मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निवेश को बढ़ाना चाहते हैं। इन्वेस्टर्स समिट के लिए योगी मुंबई में रोड शो कर चुके हैं।
– सरकार का दावा है कि समिट के जरिए प्रदेश के 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा और 900 एमओयू पर साइन होंगे।

4. सरकार का फोकस एरिया क्या है?
– कृषि, फूड प्रॉसेसिंग, डेयरी, बिजली, आईटी और स्टार्टअप, पर्यटन, अक्षय ऊर्जा, फिल्म, एमएसएमई और हैंडलूम व टैक्सटाइल।

5. कितने लोग स्पीच देंगे?
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह समेत 19 केंद्रीय मंत्री स्पीच देंगे। इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ और गवर्नर राम नाइक की भी स्पीच होगी। इस समिट में 150 से ज्यादा स्पीकर्स अपनी बात रखेंगे। इनमें विभिन्न सेक्टर्स के लीडर्स, इन्वेस्टर्स और बिजनेस मैन शामिल हैं। फिल्म इंडस्ट्री से अनुराग कश्यप, सुभाष घई और बोनी कपूर भी इस सेक्टर में निवेश पर अपनी बात रखेंगे।

किन बड़े उद्योगपतियों पर होगी नजर?
– समिट में मुकेश अंबानी, गौतम अडानी, कुमार मंगलम बिड़ला, अनिल अंबानी, सुनील भारती मित्तल और सज्जन जिंदल जैसे उद्योगपति शामिल होंगे।

6. कितने केंद्रीय मंत्री आएंगे?

– समिट में 18 केन्द्रीय मंत्री बतौर स्पीकर अपने-अपने विभाग की स्पीच देंगे। इनमें अरुण जेटली, नितिन गडकरी, सुरेश प्रभु, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, गणपति राजू, डॉ हर्षवर्धन, महेश शर्मा, धर्मेद्र प्रधान, गिरिराज सिंह, रविशंकर प्रसाद, शिवप्रताप शुक्ल और हरसिमरत कौर शामिल हैं।

7. कितने सेशन होंगे?

– दो दिन के इस समिट में 30 से ज्यादा सेशन होंगे, जिसमें 200 से ज्यादा सीईओ शामिल होंगे। जिनमें से डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग, आईटी एंड आईटीईएस, रिन्यूबल एनर्जी पर के सेशन पर फोकस होगा।

8. 7 चरणों में होगी सुरक्षा

– इन्वेस्टर समिट की सुरक्षा के लिए पहले चरण में लोकल पुलिस के करीब 8 हजार पुलिस कर्मी शामिल होंगे। आयोजन स्थल में सिविल ड्रेस में सब इंपेक्टर रैंक के पुलिसकर्मियों को दो घेरे बनाए गए हैं।

– यूपी एटीएस की पांच टीमों को लगाया गया है, जिसमें ATS की दो कमांडो टीम और 3 स्वार्ड टीमें शामिल है। उसके बाद एसपीजी और NSG का घेरा रहेगा। आयोजन स्थल के बाहर PAC और ट्रैफिक पुलिस तैनात रहेगी।

– सुरक्षा के लिए 9 SP, 35 SSP, 80 DSP, 55 इंस्पेक्टर, 625 एसआई, 60 महिला एसआई, 3200 कांस्टेबल, 11 चीआई, 104 एचसीटी और 805 ट्रैफिक कांस्टेबल की तैनाती की गई है।