विश्वयुद्ध की आहटः जंग की तैयारी कर रहा है रूस!

0 commentsViews:

सीरिया पर अमेरिकी हमले के बाद अचानक रूस में हलचल तेज हो गई है. रूसी टीवी चैनल लगातार अपने नागरिकों को आगाह कर रहे हैं कि वो खाने-पीने के जरूरी सामान और दवाओं को स्टॉक में रखना शुरू कर दें. इतना ही लोगों से अपने पास आयोडीन रखने को भी कहा जा रहा है, ताकि रेडिएशन के खतरे से बचाव हो सके. रूसी नागरिकों के साथ-साथ रूसी सरकार ने अपनी सेना को भी अलर्ट रहने को कहा है. साथ ही सेना को किसी भी तरह के परमाणु हमले से निपटने के लिए ट्रेनिंग भी दी जा रही है.

जंग के लिए तैयार रहें- पुतिन

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने रूसी नागरिकों को संदेश जारी करते हुए कहा है कि जंग के लिए तैयार रहें. रूसी चैनल पर लगातार एलान हो रहा है कि आपात स्थिति से निपटने के लिए खाने-पीने का सामान जमा करके रखें. अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप को पुतिन ने धमकी दी है कि अगर सीरिया पर फिर हमला किया तो बर्दाश्त नहीं करेंगे.

विश्वयुद्ध के मुहाने पर दुनिया

मैदान-ए-जंग बन चुके सीरिया में अब लड़ाई आतंकियों से निपटने या असद को केमिकल हमले करने के लिए सबक सिखाने की नहीं रह गई. बल्कि अब बात और आगे बढ़ गई है. सीरिया अब अमेरिका और रूस के लिए नाक का सवाल बन गया है. जहां कभी दुश्मन का दुश्मन दोस्त तो कभी दोस्त दोस्त दुश्मन बन जाता है और दो महाशक्तियों की लड़ाई में वर्ल्ड वॉर के मुहाने पर आ खड़ी हुई है.

दो खेमों में बंट गई है दुनिया

सीरिया की जंग ने दुनिया को दो खेमों में बांट दिया है. हमले के बाद अमेरिकी खेमा शांत है. मगर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन तिलमिला उठे है. उम्मीद बहुत कम है कि रूस पलटवार से परहेज करेगा. इतना ही नहीं रूस ने अमेरिका और उसके गुट को गंभीर नतीजे भुगतने की धमकी भी दे दी है. रूसी न्यूज़ चैनल तो तीसरे विश्व युद्ध की आशंका जताते हुए लोगों से इमरजेंसी सामान को जुटाने की बात कह रहे हैं. रूसी लोगों को ये सलाह दी जा रही है कि वो अपने पास आयोडीन ज़रूर रखें ताकि रेडिएशन के खतरों से बचाव हो सके.

बढ़ गई है रूस की बौखलाहट

रूस की बौखलाहट संयुक्त राष्ट्र में उसके प्रस्ताव के गिरने से भी और ज़्यादा बढ़ गई है. जिसमें सीरिया के ख़िलाफ़ अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस के मिसाइल हमलों के खिलाफ रूस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में समर्थन नहीं जुटा पाया. अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियां बता रही हैं रूस ने थल, जल और वायु तमाम तरह की तैयारियां पूरी कर ली हैं. रूसी चैनल अपने नागरिकों से कह रहें है कि वो ऑयोडीन, पानी, चावल, दलिया और दवाएं स्टॉक कर लें. इमरजेंसी के हालात कभी भी पैदा हो सकते हैं.

अमेरिका को पुतिन की चेतावनी

यूं भी राष्ट्रपति पुतिन अमेरिका को चेतावनी दे चुके हैं कि सीरिया में फिर से कोई सैन्य कार्रवाई हुई तो दुनिया में अफरातफरी मच जाएगी. वहीं अमेरिका एक तरफ तो ज़रूरत पड़ने पर दोबारा सीरिया पर हमले की बात कर रहा है. वहीं दूसरी तरफ रूस के गुस्से को भांपते हुए उसने सीरिया से अपने सैनिकों को जल्द से जल्द निकालने का आदेश भी दे दिया है.

ईरान को भी जिम्मेदार मानता है अमेरिका

सीरिया में हमले के बाद पुतिन ने ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी से फ़ोन पर बात की है. दोनों ने साफ किया है कि सीरिया पर अमेरिकी हमले ने राजनीतिक हल की गुंजाइश को ख़त्म कर दिया है. याद रहे कि सीरिय़ा के हालात के लिए अमेरिका रूस के साथ-साथ ईरान को भी जिम्मेदार मानता है.

दुनिया पर वर्चस्व की जंग

सीरिया को ज़ोर आज़माइश का मैदान बना चुके दोनों गुटों में शामिल देश अपने अपने मतलब साधने में जुटे हुए हैं. अमेरिका और रूस दुनिया पर वर्चस्व की जंग लड़ रहे हैं. तो इसराइल सीरिया के बहाने ईरान पर अब दबदबा कायम करना चाहता है. मगर हमेशा की तरह इस बार अमेरिका के लिए राह आसान नहीं है. क्योंकि अमेरिका के साथ अगर फ्रांस और ब्रिटेन हैं. तो रूस के साथ भी ईरान और चीन जैसे मुल्क खड़े हैं.


Facebook Comments