शीला दीक्षित को ‘बोझ’ बताने वाले अरविंदर सिंह लवली बीजेपी छोड़ फिर से कांग्रेस में

0 commentsViews:

नई दिल्ली: 2017 में हुए दिल्ली के निगम चुनाव में कांग्रेस छोड़ बीजेपी शामिल हुए अरविंदर लवली की कांग्रेस में दुबारा वापसी हो गई है. अरविंद लवली दिल्ली में शीला दीक्षित की सरकार में तीन बार मंत्री रह चुके हैं लवली कांग्रेस के दिल्ली में प्रदेश अध्यक्ष भी रहे थे. लवली शीला दीक्षित के खेमें के माने जाते हैं और दो दिन पहले ही शीला दीक्षित और अजय माकन के बीच समझौता हुआ है. अजय माकन ने अपनी गलती मान कहा था कि उन्हें शीला दीक्षित को पहले मना लेना चाहिए था.  लवली के कांग्रेस में औपचारिक रूप से शामिल होने के मौके पर माकन ने कहा कि हमें ये घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि  कांग्रेस पार्टी में अरविंदर जी वापस आ गए हैं. अरविंदर कांग्रेस के मज़बूत सिपाही थे इनके आने से कांग्रेस और मज़बूत होगी सुबह राहुल गांधी जी से मुलाक़ात हुई थी.  कांग्रेस को इससे बल मिलेगा.  वहीं अरविंदर सिंह लवली ने कहा, मैं मजबूरी में गया था.वैचारिक मतभेद थे. संवादहीनता दूर हुई है. मैं पार्टी के लिए सब कुछ करूंगा’.​
बीजेपी का दामन थामते ही कांग्रेस पर बरसे लवली, शीला दीक्षित को कांग्रेस पर 'बोझ' कहा(जब बीजेपी में शामिल हुए थे लवली)

बीजेपी का दामन थामते ही कांग्रेस पर बरसे लवली, शीला दीक्षित को कांग्रेस पर ‘बोझ’ कहा

आपको बता दें कि अरविंदर सिंह लवली कांग्रेस के 4 बार विधायक रहे हैं. 1998 में पहली बार दिल्ली के गांधी नगर से विधायक बने थे. शीला दीक्षित सरकार में शिक्षा, शहरी विकास, पर्यटन और परिवहन मंत्री रह चुके हैं. लेकिन अजय माकन को दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बात से उनकी अनबन शुरू हो गई और फिर इतना झगड़ा बढ़ गया कि उन्होंने कांग्रेस से ही इस्तीफा दे दिया.


Facebook Comments