सूरत रेप-मर्डर केस: 13 दिन बाद सुलझी गुत्थी, 3 आरोपी हिरासत में

गुजरात के सूरत में 13 दिन पहले 11 साल की एक बच्ची की रेप के बाद हत्या किए जाने का मामला सुलझा लिया गया है. अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने इस मामले में 3 लोगों को हिरासत में लिया है. पुलिस ने मासूम बच्ची की रेप के बाद हत्या में एक और व्यक्ति के संलिप्त होने की आशंका जताई है. यह आशंका भी जताई जा रही है कि चौथा आरोपी बच्ची का कोई रिश्तेदार ही है.

फिलहाल पुलिस इस मामले में हिरासत में लिए गए तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है. साथ ही उस गाड़ी को भी बरामद कर लिया गया है, जिसमें बच्ची कि लाश को लाकर फेंका गया. अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के ACP राजदीप सिंह झाला ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर पहले उन वाहनों कि जांच कि, जिसमें बच्ची को पांडेसरा में फेंकने के लिए लाया गया था.

सीसीटीवी फुटेज में आखिर पुलिस को वह गाड़ी मिल गई. इसके बाद पुलिस ने गाड़ी का नंबर निकाला और गाड़ी की तलाश में जुट गई. जल्द ही पुलिस को यह गाड़ी सूरत के ही सचिन इंडस्ट्रियल इलाके में लावारिस खड़ी मिल गई.

गाड़ी के मालिक कि तलाशी के दौरान पुलिस को तीनों आरोपियों के बारे में जानकारी मिली. फिलहाल पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया है. अब पुलिस को चौथे आरोपी की तलाश है. इस बीच आंध्र प्रदेश के एक परिवार ने बच्ची को लेकर दावा किया है. पुलिस ने दावा करने वाले पिता और बच्ची का डीएनए करवाने के लिए सैम्पल भेजा है.

यह था पूरा मामला

सूरत के पांडेसरा इलाके में 6 अप्रैल को क्रिकेट के एक मैदान के पास पुलिस को 11 साल की एक बच्ची की लाश क्षत विक्षत अवस्था में मिली थी. मेडिकल जांच में बच्ची के साथ रेप कि आशंका जताई गई, साथ ही बच्ची के शरीर पर जख्म के 86 निशान मिले.

इसके बाद मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई. मृत बच्ची की पहचान के लिए पुलिस ने शहर भर में 1200 पोस्टर लगवाए. साथ ही बच्ची और उसके परिवार वालों के बारे में जानकारी देने वाले के लिए 20 हजार रुपये के इनाम की भी घोषणा की गई थी.