हिंसा पर BJP बोली- लोकतंत्र का गला घोट रहीं ममता, बंगाल में लगे राष्ट्रपति शासन

पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में वोटिंग के दौरान हिंसा की खबरों पर भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया है. बीजेपी ने कहा है कि ममता बनर्जी को जनता पर भरोसा नहीं है और उनकी पार्टी की ओर से बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले करना लोकतंत्र का गला घोंटना है.

बीजेपी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘पंचायत चुनाव में ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी से डर गई हैं. तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं, बूथों पर कब्जा किया जा रहा है, तृणमूल सरकार के मंत्री हमारे कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मार रहे हैं. इस मंत्री को तत्काल बर्खास्त किया जाना चाहिए.’

राष्ट्रपति शासन हो लागू

केंद्रीय मंत्री और पश्चिम बंगाल से बीजेपी नेता बाबुल सुप्रीयो ने भी हिंसा के लिए ममता बनर्जी को निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में हिंसा हो रही है, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कहां हैं? उन्होंने कहा कि सूबे में हालात बहुत बुरे हैं और मुझे लगता है कि बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाना चाहिए.

अब तक 7 की मौत

 पंचायत चुनाव के दौरान हिंसा में अब तक कुल 7 लोगों की मौत हो गई है. दक्षिण 24 परगना जिले में 3, मुर्शिदाबाद में 2, नदिया जिले में 1 और उत्तर 24 परगना जिले में 1 व्यक्ति की मौत हुई है. मरने वालों में 3 सीपीएम कार्यकर्ता, 1 टीएमसी, 1 बीजेपी कार्यकर्ता और एक निर्दलीय उम्मीदवार शामिल है. आरोप है कि हिंसा में अलग-अलग पार्टी के कार्यकर्ता एक दूसरे को निशाना बना रहे हैं. बड़ी संख्या में लोग घायल बताए जा रहे हैं.

नादिया जिले के सांतीपुर में गुस्साए स्थानीय लोगों ने उत्पात मचा रहे एक बाइक सवार की मार-मारकर हत्या कर दी. स्थानीय लोगों का आरोप है कि कुछ उत्पाती तत्व टीएमसी का झंडा लिए वोटरों को धमका रहे थे. इस दौरान भीड़ ने उन पर हमला कर दिया. जिसमें एक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बाकी दो घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बता दें कि राज्य में 621 जिला परिषदों , 6157 पंचायत समितियों और 31827 ग्राम पंचायतों में चुनाव हो रहे हैं. आज वोटिंग के बाद मतगणना 17 मई को होगी.