15 साल का ये गोल्ड मेडलिस्ट ओलंपिक के लिए बढ़ाएगा वजन

0 commentsViews:

युवा ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता भारोत्तोलक जेरेमे लालरिनुंगा की नजरें 15 साल की उम्र में ही ओलंपिक पर टिक गई हैं. इसके लिए दो साल के भीतर वह अपने वजन में इजाफा करना चाहते हैं.

मिजोरम के इस युवा को भारतीय भारोत्तोलन का अगला बड़ा स्टार माना जा रहा है और सोमवार को उन्होंने 62 किग्रा वर्ग में निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ब्यूनस आयर्स में युवा ओलंपिक खेलों में भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता.

लालरिनुंगा अपने प्रदर्शन से खुश हैं, लेकिन उनके पास इतना समय नहीं है कि वे अपने इस प्रदर्शन को सराह सकें. लालरिनुंगा ने अर्जेंटीना की राजधानी से फोन पर पीटीआई से कहा, ‘मैं स्वर्ण पदक जीतकर वास्तव में खुश हूं.’

उन्होंने कहा, ‘मैं 21 अक्टूबर को पटियाला लौटूंगा. अब मुझे 2020 तोक्यो ओलंपिक के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी. ओलंपिक के लिए मुझे अपने वजन वर्ग को बदलकर 67 किग्रा करना होगा, इसलिए मुझे और कड़ी मेहनत करनी होगी.’


Facebook Comments