केजरीवाल व कुमार विश्वास को सुप्रीम कोर्ट से राहत, समन पर लगाई रोक

0 commentsViews:

arvind-kumar

नई दिल्ली । गैरकानूनी तरीके से
एक जगह जमा होने के एक मामले में
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
और आप नेता कुमार विश्वास को
ट्रायल कोर्ट से समन दिए
जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने
रोक लगा दी है। ट्रायल
कोर्ट से समन मिलने के
बाद मुख्यमंत्री अरविंद
केजरीवाल और आम
आदमी पार्टी नेता कुमार
विश्वास ने सुप्रीम कोर्ट का
दरवाजा खटखटाया था।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद
केजरीवाल की याचिका पर
उत्तरप्रदेश सरकार से जवाब
मांगा है।
दोनों नेताओं ने सुप्रीम
कोर्ट में याचिका दाखिल
कर उत्तर प्रदेश में सुल्तानपुर की
अदालत से जारी समन पर रोक लगाने
और निजी पेशी से छूट दिये जाने की
मांग की थी।
साथ ही चुनाव रैली के दौरान उन
पर दर्ज किए गए आपराधिक मामले

को निरस्त करने की मांग की थी। यह
मामला 2014 के संसदीय चुनाव के
दौरान अमेठी में रैली का है। गौरतलब
है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने गत 21
अक्टूबर को दोनों नेताओं की याचिकाएं
खारिज करते हुए उन्हें ट्रायल का
समाना करने को कहा था, जिसके
खिलाफ आप नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में
याचिका दाखिल की थी।
बुधवार को केजरीवाल और विश्वास
के वकील संतोष कुमार त्रिपाठी ने
कोर्ट के समक्ष याचिका का जिक्र करते
हुए शीघ्र सुनवाई का अनुरोध किया
था। कोर्ट ने अनुरोध स्वीकार करते
हुए आज मामला
सुनवाई पर लगाने का
निर्देश दिया था।
गौरतलब है कि
2014 के संसदीय चुनाव
में अमेठी में रैली
निकालने के दौरान
अरविंद केजरीवाल और
कुमार विश्वास के
खिलाफ आइपीसी की
धारा 143 (गैरकानूनी
रूप से एकत्र होना), 186
(सरकारी कर्मचारी को
कामकाज में बाधा
पहुंचाना), 341 (रांगफुल
रेस्ट्रेन), 353 और 171 जी (चुनाव के
संबंध में गलत बयानबाजी करना)
धाराओं में आपराधिक मुकदमा दर्ज
हुआ। सुल्तानपुर की निचली अदालत
ने इस मुकदमे में दोनों नेताओं को
सम्मन जारी किया था।

 


Facebook Comments