Articles by: SaraSach
Web & Print Media

R T I

R T I ek aam aadmi ki taakat hai Share on: WhatsApp… Read more ›

खुद इमानदार होना ही काफी नहीं ..

खुद इमानदार होना ही काफी नहीं….पूरे देश मैं नेता से लेकर सरकारी अधिकारी तक ज़्यादातर कोई भी इमानदार नहीं है ‘उदाहरण अगर एक विभाग का एक छोटा सा पीओन भी अगर इमानदार हो तो पूरा ऑफिस इमानदार होता, क्योकि खुद… Read more ›

घूसखोरी – बिना पैसे के कोई काम नहीं..

घूसखोरी बिना पैसे के कोई काम नहीं..सरकारी सभी विभागों मे, घूसखोरी/बिना पैसे के कोई काम नहीं, पहले पैसा दो फिर काम होगा CPWD के एक division मे ऊचे पद पैर बैठे Engineer बिना घूसखोरी/ बिना पैसे के कोई काम नहीं… Read more ›

घूसखोरी – बिना पैसे के कोई काम नहीं..

Share on: WhatsApp… Read more ›

आमदनी अठन्नी खर्चा रुपय्या, बच्चो ज़रा पूछो तो अपने पापा से

एक अधरिकारी जो हर महीने 15000 कमाता है लेकिन खर्च 30000 करता है क्यों, उदाहरण अधिकारी के !- किचन का खर्च आठ हज़ार + बच्चो के स्कूल सात हज़ार + कपडे तीन हज़ार + खुद का खर्च सात हज़ार +… Read more ›

आम आदमी के खाने के लाले यहाँ सो करोड़ बर्बाद

C P W D मैंटीनेन्स पूरा विभाग सिर्फ M P’s के लिए कार्य करता है सो करोड रूपये एक साल मे इनके फ्लैट और बंगलो की मैंटीनेन्स पर हि खर्च किये जाते है जो की आम जनता का पैसा है,… Read more ›

CWG ( कॉमनवेल्थ गेम) का मतलब कमाओ और गायब करो

CWG( कॉमनवेल्थ गेम) का मतलब कमाओ और गायब करो ( हमारे पैसो का दुरपयोग ) कॉमनवेल्थ गेम के नाम पर सभी विभाग अधिकारी और नेता खूब कमा रहें है, उदाहरण -( १) लो फ्लोर बसों की कीमत तकरीबन पचास लाख… Read more ›

डी टी सी, ड्राईवर और कंडेक्टर की उपर की कमाई

ज़ी टी वी और दिल्ली वार्ता (हिंदी मैगजीन) ने स्टिंग ओप्रेसन में ये दिखाया था की, डी टी सी, ड्राईवर ब्लूलाइन बस वालो से पैसे लेकर अपनी बस को धीरे चलाएंगे और ब्लूलाइन से पीछे रहेंगे! क्या कोई सोच सकता… Read more ›

एम सी डी (मोस्ट करप्ट डिपार्टमेंट) के बाद, पी डब्लू डी (पर्सनल वेलफेअर डिपार्टमेंट )

सरकार को चूना लगाने मे पी डब्लू डी के कुछ अधिकारी भी पीछे नहीं है आए दिन अखबार मे टीवी पर ये देखने को मिलता ही है, उदाहरण आये दिन हर जगह रोड खुदी पड़ी रहती है सरकारी विभाग आपस… Read more ›

इमानदार होना ही काफी नहीं

पूरे देश मैं कोई भी सच्चा नागरिक नहीं है ‘उदाहरण अगर एक विभाग का एक छोटा सा पीओन भी अगर इमानदार हो तो पूरा ऑफिस इमानदार होता, क्योकि खुद इमानदार होने से ही काम नहीं चलता दूसरो को भी इमानदारी… Read more ›