BJP का खजाना हुआ दोगुना, कांग्रेस की आमदनी अठ्ठनी खर्चा रुपैया

0 commentsViews:

बीते एक साल के दौरान भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की कमाई में 81 फीसदी इजाफा हुआ. बीजेपी की कमाई में हुए इस इजाफे के दौरान देश की 7 बड़ी राष्ट्रीय पार्टियों की कमाई भी इस एक साल में 51 फीसदी बढ़ गई. हालांकि इस दौरान देश की ग्रैंड ओल्ड पार्टी कांग्रेस की कमाई बीते एक साल के मुकाबले कम हो गई लेकिन इसके बावजूद पार्टी ने साल के दौरान अपनी कमाई से अधिक खर्च करने का काम किया.

देश के राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव आयोग को दी गई रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी की कमाई बीते एक साल के दौरान 81 फीसदी बढ़ी वहीं कांग्रेस की कमाई में 14 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. बीजेपी की कमाई बढ़ने के लिए जहां देश के कई राज्यों में पार्टी की सरकार बनना जिम्मेदार है वहीं कांग्रेस को हुए नुकसान की वजह कई राज्यों में उसके राजनीतिक कदम में गिरावट दर्ज होने से हुई है. बीजेपी द्वारा शासित राज्यों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. इससे पार्टी की कमाई पिछले साल के मुकाबले लगभग दोगुनी हो चुकी है.

वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान पार्टी की कमाई और खर्च पर एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) संस्था ने अपनी रिपोर्ट तैयार की है. एडीआर के मुताबिक दोनों बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी ऑडिट रिपोर्ट जमा कराने का काम 30 अगस्त 2017 की अंतिम तारीख के बाद किया है. दोनों बीजेपी और कांग्रेस ने चंदा अथवा योगदान को पार्टी की कमाई का प्रमुख जरिया बताया है.

 

एडीआर रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी की कमाई में 463.41 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. वित्त पर्ष 2015 में पार्टी की कमाई 570.86 करोड़ रुपये से बढ़कर 2016-17 में 1,034.27 करोड़ रुपये हो गई. वहीं, इस दौरान कांग्रेस की कमाई पिछले साल के मुकाबले 36.20 करोड़ रुपये कम हो गई. वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान जहां कांग्रेस ने 261.56 करोड़ रुपये की कमाई की वहीं 2016-17 के दौरान उसे महज 225.36 करोड़ रुपये की कमाई हुई.

बीजेपी को लगभग 1000 करोड़ रुपये का चंदा मिला है वहीं कांग्रेस को इस दौरान महज लगभग 50 करोड़ रुपये बतौर चंदा मिला है. वहीं कांग्रेस को कूपन के जरिए लगभग 116 करोड़ रुपये की कमाई हुई है.

वहीं एडीआर रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान बीजेपी ने चुनाव और प्रचार के लिए कुल 606.64 करोड़ रुपये खर्च किए. इस दौरान बीजेपी ने लगभग 70 करोड़ रुपये प्रशासनिक कार्यों के लिए खर्च किए. वहीं इस दौरान कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए लगभग 150 करोड़ रुपये खर्च किए और प्रशासनिक कार्यों के लिए उसे लगभग 115 करोड़ रुपये खर्च करने पड़े. लिहाजा कांग्रेस ने इस साल अपनी कमाई से अधिक खर्च करने का भी काम किया.

रिपोर्ट के मुताबिक इस साल के दौरान देश की सात राष्ट्रीय पार्टियों की कमाई में कुल 525.99 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. राजनीतिक दलों को यह इजाफा मुख्य रूप से राजनीतिक चंदों से हुई कमाई के चलते हुआ. जहां 2015-16 में पार्टियों को लगभग 1,033 करोड़ रुपये की कमाई हुई वहीं 2016-17 में इन पार्टियों की कुल कमाई बढ़कर लगभग 1559 करोड़ रुपये हो गई.


Facebook Comments