BJP ने बंगलुरु के लिए जारी किया अलग मेनिफेस्टो, राइट टू सर्विस का वादा

भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक चुनाव में जीत हासिल करने के लिए पुरजोर मेहनत कर रही है. बीजेपी ने इस बार राजधानी बंगलुरु के लिए अलग से मेनिफेस्टो जारी किया है. मंगलवार को मेनिफेस्टो जारी करते हुए बीजेपी ने बंगलुरु को मिनी इंडिया बताया और शहर के लिए कई वादे किए.

बीजेपी की ओर से कहा गया है कि बंगलुरु के लिए एक नया कानून बनाया जाएगा, जिसे बंगलुरु मेट्रोपोलिटन रिजनल गवर्नेंस एक्ट का नाम दिया जाएगा. इसमें शहर के लिए नया मेट्रोपोलिटन प्लानिंग कमेटी का गठन किया जाएगा.

शहर की सभी ट्रांसपोर्ट एजेंसी को जोड़ा जाएगा ताकि ट्रांसपोर्ट सिस्टम को अच्छा बनाया जा सके. सरकारी एजेंसियों को जवाबदेह बनाया जाएगा. इसके अलावा कहा गया है कि सभी नागरिकों को राइट टू सर्विस का अधिकार भी दिया जाएगा. वहीं हर साल शहर का रिपोर्ट कार्ड भी पेश किया जाएगा.

आपको बता दें कि राज्य के लिए बीजेपी पहले ही अपना मेनिफेस्टो जारी कर दिया गया था. बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में महिलाओं और किसानों के लिए विशेष योजनाओं का ऐलान किया.

बीजेपी के घोषणापत्र की बड़ी बातें…

# सूखा प्रभावित क्षेत्रों में 20 लाख किसानों को 10,000 रुपए की मदद.

# सिंचाई योजना के लिए 1.5 लाख करोड़ रुपए

# किसानों को पंप सेट के लिए दस घंटे के लिए फ्री बिजली

# गौ-हत्या को रोकने के लिए कार्यक्रम चलाया जाएगा.

# महिलाओं को दो लाख रुपए तक का 1 प्रतिशत ब्याज दर पर कर्ज

# बीपीएल परिवार की सभी महिलाओं को फ्री स्मार्टफोन

# जानवरों के कल्याण के लिए 3000 करोड़ रुपए.

आपको बता दें कि कांग्रेस पहले ही अपना घोषणापत्र जारी कर चुकी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में चुनावी घोषणापत्र जारी करते हुए कहा था कि ये बंद कमरे में नहीं बल्कि लोगों की राय लेकर बनाया हुआ घोषणापत्र है. कांग्रेस की ओर से अपने घोषणापत्र में फ्री लैपटॉप, इंटरनेट, आईटी सेक्टर, अन्न भाग्य योजना जैसी कई बड़ी योजनाओं की घोषणा की गई हैं.

गौरतलब है कि कर्नाटक में 12 मई को मतदान होना है. राज्य में 15 मई को नतीजे घोषित होंगे. हाल ही में आए कई ओपेनियन पोल में त्रिशंकु विधानसभा होने की आशंका दिखाई दी. ओपेनियन पोल में देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस किंग मेकर की भूमिका में नज़र आ रही है. इंडिया टुडे के पोल में कांग्रेस को 90 से 101 सीट और बीजेपी को 78 से 86 सीट मिलने की संभावना है. वहीं जेडीएस को 34-43 सीट मिलने की संभावना है.