Mahatma Gandhi: आखिर महात्‍मा गांधी को क्‍यों कभी नहीं मिला शांति का नोबेल पुरस्‍कार

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की आज जयंती है. गांधी जी पूरी दुनिया में सत्य और अहिंसा के पुजारी के रूप में जाने जाते हैं. अहिंसा के बल पर देश को अंग्रेजों के... Read more »

नेहरू ने पहली बार आज ही के दिन की थी आजादी की मांग, शुरू किया था ये संगठन

देश को आजादी 15 अगस्त 1947 को मिली थी. लेकिन आज ही का वो दिन था जब देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने पहली बार ब्रिटिश सरकार से आजादी की... Read more »

रुबाइयों के लिए मशहूर थे उमर खय्याम, जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल

उमर खय्याम एक जाने माने पारसी कवि तो थे ही, साथ ही एक दार्शनिक, गणितज्ञ और ज्योतिर्विद भी थे. उनका दर्शन खाओ, पियो और मौज करो की विचारधारा पर आधारित था. आज... Read more »

अटल की वो कविता… जिसने पाकिस्तान को हिलाकर रख दिया था

कविताओं को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि ‘मेरी कविता जंग का ऐलान है, पराजय की प्रस्तावना नहीं’. उनकी कविताओं का संकलन ‘मेरी इक्यावन कविताएं’ खूब चर्चित रही.... Read more »

करुणानिधि: पेरियार की राजनीति का वह अनुयायी जो हिंदी का दुश्मन था

आधुनिक तमिलनाडु के शिल्पकार, द्रविड़ राजनीति के पुरोधा, पूर्व मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कषगम चीफ एम. करुणानिधि ने मंगलवार को आख़िरी सांस ली. 3 जून 1924 को तमिलनाडु के एक निम्नवर्गीय परिवार... Read more »

1857 में नहीं, 51 साल पहले हुई अंग्रेजों के खिलाफ थी पहली बगावत

1857 का स्वाधीनता संग्राम जिसे सामान्य तौर पर भारत का पहला स्वतंत्रता संग्राम माना जाता है. लेकिन उससे 51 साल पहले भी एक विद्रोह हुआ था, जिसे अंग्रेजों के खिलाफ बगावत की... Read more »

सीधे देश के प्रधानमंत्री बनने वाले नेता थे चंद्रशेखर सिंह!

युवा तुर्क के नाम से मशहूर रहे दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की आज पुण्यतिथि है. उनके 80वें जन्मदिन के एक हफ्ते बाद ही 8 जुलाई 2007 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में... Read more »

पुण्यतिथि: पढ़ें- हिंदी साहित्य के कवि केदारनाथ अग्रवाल की ये प्रसिद्ध कविताएं

आज हिंदी साहित्य के कवि केदारनाथ अग्रवाल की आज पुण्यतिथि है. उनका जन्म 1 अप्रैल 1911 बांदा जिले के कमासिन ग्राम में हुआ. केदारजी की शुरुआती जीवन गांव के माहौल में ही... Read more »

रवींद्रनाथ टैगोर: जिनकी कविताएं बनीं दो देश का राष्ट्रगीत

आज नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कवि, उपन्‍यासकार, नाटककार, चित्रकार, और दार्शनिक रवींद्रनाथ टैगोर की जयंती है. उनका जन्म का जन्‍म 7 मई सन 1861 को कोलकाता में हुआ था. वे ऐसे मानवतावादी... Read more »

IAS चुने गए प्रभाकरन, कभी प्लेटफॉर्म पर बिताई रात और की मजदूरी

यूपीएससी सिविल सर्विस 2017 की परीक्षा में एम शिवागुरू प्रभाकरन ने 101वीं रैंक हासिल की. प्रभाकरन ने देश की सबसे कठिन मानी जाने वाली सिविल सर्विसेज परीक्षा में आईएएस के लिए चुने... Read more »