खेल संस्थाओं पर हो खिलाड़ियों नियन्त्रण : सुप्रीम कोर्ट का आदेश कितना प्रासंगिक?

खेल संस्थाओं पर हो खिलाड़ियों नियन्त्रण : सुप्रीम कोर्ट का आदेश कितना प्रासंगिक?
इन सब बातों से दो बातें साफ होती है कि एक ओर तो देश की राजनैतिक सत्ता एवं शासन व्यवस्था अकर्मण्य और अयोग्य लोगों के हाथों में है। जिसके चलते देश के सरकारी और गैर-सरकारी संस्थान या तो छलांग लगा… Read more ›

क्या अपने निर्माताओं के लिए अनलकी हैं धौनी !!

क्या अपने निर्माताओं के लिए अनलकी हैं धौनी !!
तारकेश कुमार ओझा, भारतीय क्रिकेट टीम के सुपरस्टार महेन्द्र सिंह धौनी क्या अपने कैरिय़र को गढ़ने वालों के लिए उसी तरह अनलकी हैं, जैसा बालीवुड के सलमान खान अपनी हिरोइनों के लिए। धौनी के जीवन वृत्तांत से कुछ इसी प्रकार… Read more ›

शारजहां की जेल में फांसी की सजा माफ

शारजहां की जेल में फांसी की सजा माफ
                      (अमृतसर ) शारजहां की जेल में फांसी की सजा माफ होने के बाद भारत पहुंचे 17 युवक देर शाम करीब साढ़े आठ बजे सचखंड श्री हरमंदिर साहिब में नतमस्तक… Read more ›

खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग- मनोज

खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग- मनोज
                      खेल में जीत और हार से ज्यादा महत्व भाग लेने का है। हार से निराश नहीं होना चाहिए बल्कि उससे सबक लेकर अपनी कमियों को सुधारना चाहिए। खेल से… Read more ›

शूटिंग के फलक पर उभरता सितारा आमिर

शूटिंग के फलक पर उभरता सितारा आमिर
                खुदी को कर बुलन्द इतना की हर तकदीर से पहले, खुदा खुद बन्दे से पूछे बोल तेरी रजा क्या है।   बरेली के शूटर आमिर खां कुछ इसी हौसले से जीवन में… Read more ›

खेल से समाज में कायम होती है समरस्ता

खेल से समाज में कायम होती है समरस्ता
                    चन्दौली ब्यूरो। खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग है। खेल से शरीर व मस्तिष्क का विकास होता है जबकि खेल भावना से समाज में अमन व शान्ति पैदा होती है। ग्रामीण… Read more ›