पवन गौतम – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता

पवन गौतम – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता
कहीं पतंग उड़ाई जाए। कहीं लावणियां झलकाए।सूरज अपनी दिव्य छटा को.. जन जन तक रश्मि पहुँचाए।नए वर्ष में खुशियाँ लाए…… सबको मकर सक्रांति भाए।।——-कहीं लाहिड़ी नाम पुकारे। पोंगल कहकर इसे उचारे।स्वर्ण भास्कर हो उतरायण… विवस्वान मार्तण्ड नज़ारे। फसलें खेतों में… Read more ›

अनन्तराम चौबे – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता

अनन्तराम चौबे – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता
खेतो का खलियानों का ये देश है वीर जवानो का । मिट्टी की सौदीं खुशबू में देश है सच्चे किसानो का । हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई सब मिलकर रहते भाई भाई सभी धर्मो की पूजा करते गुरूद्वारे में माथा टेकते… Read more ›

अपर्णा शर्मा– मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता

अपर्णा शर्मा– मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता
मकर संक्रांति का त्यौहार हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है ।सूर्य के उत्तरायण होने पर बनाया जाता है। इस पर्व की विशेषता यह है कि अन्य त्योहारों की तरह अलग-अलग तारीखों पर नहीं आता है। यह हर साल… Read more ›

किरण बाला – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता

किरण बाला – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता
लो निकल पड़ी बच्चों की टोली घर-घर जा माँगने लोहड़ी कराने याद दुल्ला-भट्टी की कहानी सुंदरी-मुँदरी गाने की जबानी सजे-धजे से खेत और क्यारीइठलाई सी गेहूँ -जौ की बालीपीली धरा झूमे मतवालीचहुँ ओर छाई हरियाली नभ में दूर पतंगों की रंगोलीकाटने पतंग वो होड़ा-होड़ी ढोल-नगाड़े संग… Read more ›

ज्योति सोनी – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता

ज्योति सोनी – मकरसंक्रांति – साप्ताहिक प्रतियोगिता
ठंडी सुबह,अलसाया सूरज लेकर आया “सक्रांति दिवस” छोटे बच्चे भागे चौक में लेकर पतंग और चरखी डोर लुढकाये कंचे कुछ ने, मचाया शोर तिल की गजक, गाजर का हलवा महका चूरमा, लड्डू और पपड़ी का जलवा नव वर्ष का नव… Read more ›

पवन कुमार गौतम – नव वर्ष – साप्ताहिक प्रतियोगिता

पवन कुमार गौतम – नव वर्ष – साप्ताहिक प्रतियोगिता
नववर्ष मनाकर विश्व पटल पर काव्य का गुंजन कर ले।स्वर वीणा के संग में हम भी माँ शारद वन्दन कर ले। माँ सरस्वती का आराधन हम सबजन मिलकर गाएंगे।संग में साहित्य मंगलकर अरु छंद विधान सजायेंगे।।मन से तन से और… Read more ›