गुरु, अध्यापक – डॉ.बी.निर्मला

अज्ञान से ज्ञान,अंधेरे से प्रकाश, अशिक्षित से शिक्षित,अबोध से बोध,अवगुण से गुणवान,कुमार्ग से सुमार्ग,असभ्य से सभ्य, बुधिहीन से बुद्धिमान,असंभव से संभव,पाप से पुण्य,असत्य से सत्य की राह ले जानेवाला गुरु है। किसी के लिए... Read more »

नमन वन्दन गुरुवर – सत्येन्द्र शर्मा ‘तरंग’

माँँ ने उँगली पकड़कर आँगन में दौड़़ाया, पिता ने जीवन की राह पर चलना सिखाया। जग में सर्वोपरि स्थान गुरुवर आपको, मुझे जीवन-सार देकर एक व्यक्ति बनाया।। कागज के पन्ने पर अंकित जड़ आकृति... Read more »

प्यार दिवस है /वेलेन्टाइन डे – अनन्तराम चौबे अनन्त

प्यार दिवस है पर्याय करोप्यार का बस इजहार करो ।प्यार तो बस प्यार ही हैआँख लड़ी बस हो जाता है ।आँखो ही आँखो के इशारेदिल में भी उतर जाते है ।कैसा है... Read more »

कातिल तेरी यादें – दीपक अनंत राव”अंशुमान”

आ गया है वालेंटाइन, जब इश्क़ मोहब्बत की बातें सभी करते हैं, पर बात अगर आजमाइश की आ जाए तो सभी डरते है। मगर हमारी ज़िन्दगी से मोहब्बत कुछ इस कदर... Read more »

वेलेन्टाइन डे – देवेन्द्र प्रसाद

पवित्र प्यार तुमसे करता हूँ बेशुमार इक गुलाब तुम तो दिखती हो जैसे ख्वाब आंखे तेरी लगती है जैसे अमानत मेरी तेरी सांसे करती है हर पल मुझसे बातें रुप तुम्हारा फुलों सा दिखता बेहद प्यारा इस पल आओ प्यार… Read more »

ए फ़रवरी कैसे तुम्हें भुला दूँ-दीपक अनंत राव “अंशुमान”

ए फ़रवरी कैसे तुम्हें भुला दूँ फ़ेब्रुम से बना हुआ मधुर शब्द, शुद्धता को लाने वाला शब्द, आ गया है वह फ़रवरी दिल बहलाने, मन बहलाने और गहराइयों पर छा जाने, वो आ गया फ़रवरी... Read more »

प्रामिज डे – देवेन्द्र प्रसाद

गज़ल इश्क में तनिक इन्तज़ार कर लूं तन्हाइयों से थोड़ा आंखे चार कर लूं चाह तो है कि ख़िल्वत में गुफ्तगू होवे पहले तो खुद को बेकरार ... Read more »

फूल दिवस/ रोज डे – अनन्तराम चौबे अनन्त

फूलों की किस्मत देखो कैसी है देखकर मन में शंका होती है । भगवान के चरणों में अर्पित हो किस्मत उसकी अच्छी होती है । डाली में जब तक फूल लगा है तब तक ही उसका जीवन... Read more »

रोज़ डे – इन्दिरा कुमारी

गया दिन वो जो तराना प्यार का गाती थी खत संग फूल भेज संवेदना जगाती थी। था फूल रोज़ वो जो दिल दो को जोड़ता सेंट वेलेन्टाइन के सपने संयोगता। बदल गया टाइम अब फास्ट हुई ज़िन्दगी... Read more »

फ़रवरी – रेणु बाला धार

फ़रवरी नही बस इक माह फरवरी दिल वालों की चाह फ़रवरी , बरसाता प्रेम अथाह फ़रवरी रोज दिखाता‌ ‌नई राह फ़रवरी ं सालक्रम में दुसरा नम्बर होता है ... Read more »