सौंदर्य और संस्कृति में सिक्किम भी कम नहीं!

सौंदर्य और संस्कृति में सिक्किम भी कम नहीं!
तिब्बती भाषा, संस्कृति व बौद्ध धर्म के शोधार्थियों के लिए रिसर्च इंस्टीट्यूट आफ तिब्बतोलोजी एक अद्वितीय संस्थान है। इसकी प्रसिद्धि विश्व भर में है। यहां संग्रहालय में दुर्लभ पांडुलिपियों, पुस्तकों, मूर्तियों, कलाकृतियों का अनूठा संग्रह है। विशेषकर थंका पेंटिंग का… Read more ›

बिहार में करें धर्म और अध्यात्म का दर्शन

बिहार में करें धर्म और अध्यात्म का दर्शन
बिहार हमेशा से ही धर्म, अध्यात्म, संस्.ति और ऐतिहासिक धरोहर का केंद्र रहा है। यहां की परंपराएं, संस्कृति, रीति-रिवाज और जीवन-पद्धतियां, मेले, पर्व, त्यौहार सभी देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी ओर खींचने का काम करते हैं। अविकसित राज्य होने के… Read more ›

इको टूरिज्म के लिए मशहूर राजगढ़ का कैंप

इको टूरिज्म के लिए मशहूर राजगढ़ का कैंप
ज्यादातर पर्यटक अब इको टूरिज्म को महत्ता देते नजर आ रहे हैं। इको टूरिज्म प्र.ति से जुड़ने का अच्छा विकल्प है। ऐसा ही इको टूरिज्म का एक हिस्सा है राजगढ़ का बोधिसत्व कैम्प। यह जगह आर्किड के फूलों की तरह… Read more ›

पर्यटक आना चाहते हैं यहां बार-बार

पर्यटक आना चाहते हैं यहां बार-बार
भारत के पश्चिमी तट पर स्थित मुंबई (पूर्व नाम बंबई) महाराष्ट्र की राजधानी है। भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई पर्यटकों को बहुत लुभाता है। मुंबई को भारत का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। मुंबई भारत के पश्चिमी समुद्र तट… Read more ›

मंदंदारमणि में मन को शांंति देतेती समुद्रुद्री लहरें

मंदंदारमणि में मन को शांंति देतेती समुद्रुद्री लहरें
समुद्री तटों पर सैर करने से पहले यह जरूर पता कर लें कि कब समुद्री लहरें बड़ी हो जाती हैं ताकि आपको कोई नुकसान न हो। न सिर्फ समुद्र तट बल्कि इन किनारों से आप सनराइज और सनसेट का भी… Read more ›

विंध्याचल पर्वत से घिरा हुआ है चंदेरी

विंध्याचल पर्वत से घिरा हुआ है चंदेरी
मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड में चंदेरी विंध्याचल पर्वत से घिरा है। ऐतिहासिकता समेटे यह शहर पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है। हालांकि अब तक पता नहीं चल पाया कि चंदेरी शहर की खोज किसने की। एक किवंदती के अनुसार… Read more ›

कभी परमार राजाओं की राजधनी था मांडू

इंदौर से लगभग 90 किलोमीटर दूर ऐतिहासिक पर्यटक स्थल हैं ‘मांडू‘ जिसे खुशियों का शहर भी कहा जाता हैं। दसवीं शताब्दी में मांडू मालवा के परमार राजाओं की राजधानी हुआ करता थी। लगभग 13वीं शताब्दी तक उस पर मालवा के… Read more ›

सब पर इनायत करते हैं हाजी अली

अरब सागर के बीच 19वीं सदी के पूर्वार्ध में बनी मुंबई की प्रसिद्ध हाजी अली दरगाह जमीन से 500 गज दूर समुद्र में स्थित है। यह दरगाह हिंदुओं और मुसलमानों ही नहीं बल्कि अन्य धर्मों के लोगों के लिए भी… Read more ›

अफ्रीका का सौंदर्य सिमटा विक्टोरिया प्रपात में

अफ्रीका का सौंदर्य सिमटा विक्टोरिया प्रपात में
आकर्षक उद्यानों वाले पठार, ऊंची-ऊंची पर्वत श्रेणियां, रोमांचक वन्य जीवन, समुद्र जैसी विशाल झीलें और मनमोहक जलप्रपात, यह सब कुछ ऐसी विशेषताएं हैं जिनकी वजह से बारघ्बार अफ्रीका जाने को मन करता है। अफ्रीका की प्राकृतिक खूबसूरती में जो चीज… Read more ›