Commonwealth Games 2018: बेटियों का दबदबा कायम, संजीता चानू ने भारत को दिलाया दूसरा गोल्ड

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारत की झोली में दूसरा स्वर्ण पदक आ गया. मीराबाई चानू के बाद कॉमनवेल्थ गेम में भारत की संजीता चानू ने देश के लिए दूसरा गोल्ड मेडल जीत भारत को एक और गौरव भरा पल दे दिया है. संजीता चानू ने वेट लिफ्टिंग में गोल्ड जीता है. इस तरह से भारत के खाते में तीन मेडल आ चुके हैं.कॉमनवेल्थ गेम के दूसरे दिन भारतीय वेटलिफ्टर संजीता चानू ने महिलाओं के 53 किलो भारवर्ग में गोल्ड मेडल जीता है. संजीता ने कुल 192 किलो भार उठा कर यह उपलब्धि हासिल की.

चानू ने स्नैच में 84 किलोग्राम का भार उठाया जो गेम रिकॉर्ड रहा, वहीं क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 108 किलोग्राम का भार उठाया और कुल 192 के कुल स्कोर के साथ सोने का तमगा अपने नाम करने में सफल रहीं. स्पर्धा का रजत पापुआ न्यू गिनी की लाउ डिका ताउ को मिला जिनका कुल स्कोर 182 रहा. कनाडा की रचेल लेब्लांग को 181 के कुल योग के साथ कांस्य से संतोष करना पड़ा.

टिप्पणियां

इस तरह से देखा जाए तो कॉमनवेल्थ गेम में भारत की बेटियों को दबदबा जारी है. ऐसा इसलिए क्योंकि अभी तक इस गेम में दो गोल्ड मेडल आए हैं और ये दोनों गोल्ड मेडल भारत की बेटियों ने ही दिलाए हैं. इससे पहले भारत की वेट लिफ्टर मीराबाई चानू ने करोड़ों देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए 21वें कॉमनवेल्थ खेलों में महिलाओं के भारोत्तोलन के 48 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. मीराबाई ने भारत को पहला गोल्ड दिया और वहीं मीरा के साथ संजीता भी गोल्ड देने वाले खिलाड़ी में शामिल हो गई हैं. इस तरह से दो दिन में भारत के खाते में दो गोल्ड मेडल आ चुके हैं.

 बता दें कि बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के क्ववींसलैंड के गोल्ड कोस्ट में आयोजित ओपनिंग सेरेमनी के आखिरी दौर में प्रिंस चार्ल्स के आधिकारिक रूप से ऐलान के साथ ही 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स का ऑफिशियली आगाज हो गया. खेल प्रतिस्पर्धाओं की शुरुआत आज से हुई. और भारतीय खिलाड़ी लगातार अपनी कोशिशों से भारत के लिए मेडल जीत रहे हैं.