बेईमान / भ्रस्ट अधिकारी का परिवार भी बेईमान / भ्रस्ट है

बेईमान / भ्रस्ट सरकारी अधिकारी का परिवार भी बेईमान / भ्रस्ट है, सरकारी अधिकारी बेईमान है तो उनकी बच्चे भी तो बेईमान होंगे ) जो आम लोगो की खून पसीने की कमाई, जोकि आम आदमी को मजबूरी मे रिश्वत के तोर पर देनी पड़ती है ,,यह लोग कैसे खाना खा लेते है लोगो की खून पसीने की कमाई का आमदनी अठन्नी खर्चा रुपय्या, बच्चो ज़रा पूछो तो अपने पापा से एक अधरिकारी जिसकी तनख्वाह हर महीने 30,000/- है लेकिन खर्च 80,000
/- करता है क्यों..कैसे ..?? उदाहरण अधिकारी के (!)- किचन का खर्च 10,000 हज़ार + बच्चो के स्कूल 12,000 हज़ार, + कपडे, 6,000 हज़ार + खुद का तथा गाडी का 15,000 हज़ार + बच्चो के एड्मिसन/ कोर्स इत्यादि पांच 20,000 , + घर मे T V etc. 10 ,000 . हज़ार, यह सब तो बोहोत कम है, और खर्चे तो जोड़े ही नहीं, पूछो तो ज़रा ???? ज़यादातर सभी सरकारी अधिकारी बेईमान है तो उनकी बच्चे भी तो बेईमान होंगे ……यदि कोई भी सरकारी अधिकारी के बच्चे यह पोस्ट पढ़ रहे है तो तुम खुद ही सारा खर्चे का टोटल करो, और तुम्हे खुद ही पता लग जाएगा, फिर अपने माता पिता से पूछो तब मुझे जवाब दो .. ??