डीहाइड्रेशन से बचना है तो पीये खूब पानी

0 commentsViews:

drink-water-all-day

हाइड्रेशन की समस्या हमें कई
प्रकार की बीमारी हो सकती है। शरीर
में पानी की कमी अनेक कारणों से
होती है, लेकिन कुछ बातों का ध्यान
रख कर डीहाइड्रेशन की समस्या से
बचा जा सकता है।
कम पानी पीने के अलावा शरीर से
बहुत ज्यादा पानी का निकल जाना भी
डीहाइड्रेशन की एक मूल वजह है।
कुछ मामलों में दोनों बातें देखने को
मिलती हैं।
कई बार हम इतने व्यस्त होते हैं
कि पानी पीने का भी वक्त नहीं मिलता
या किसी ऐसी जगह होते हैं, जहां पीने
योग्य पानी की व्यवस्था नहीं होती।
ऐसी स्थिति में डीहाइड्रेशन होना लाजमी
है। कुछ और भी कारण हैं इसके।
डायरिया या दस्तः दस्त के दौरान
शरीर से अत्यधिक मात्रा में पानी निकल
जाता है। हमारी बड़ी आंत खाद्य पदार्थों
से पानी अवशोषित करती है। दस्त
इस पूरी प्रक्रिया को रोक देता है।
इसलिए डॉंक्टर अक्सर दस्त के दौरान
ओआरएस का घोल लेते रहने की
सलाह देते हैं।
उल्टीः इसमें भी शरीर से भारी
मात्रा में पानी निकल जाता है। पानी
पीकर भी इस कमी की तुरंत भरपाई
नहीं की जा सकती। इसमें वक्त
लगता है।
पसीनाः इसकी सहायता से शरीर
खुद को ठंडा और सामान्य तापमान
पर रखता है। जैसे-जैसे तापमान और
नमी बढ़ती हैं, पसीने की मात्रा भी
बढ़ती जाती है। शारीरिक गतिविधियों
या मेहनत वाले काम करते हुए भी
पसीने के रूप में खूब सारा पानी शरीर
स े
निकलता है।
डायबिटीजः डायबिटीज से ग्रस्त
हैं तो डीहाइड्रेशन का खतरा आप पर
ज्यादा है। रव्त में ग्लूकोज का स्तर
बढ़ते ही मूत्र त्यागने की प्रक्रिया बढ़
जाती है। उच्च रक्तचाप, शराब की
लत, एलर्जी और तनाव के लिए ली
जाने वाली दवाओं की वजह से भी
बार-बार मूत्र आता है।
क्या हैं इसके लक्षण
बहुत ज्यादा और तेज प्यास लगना,
गला सूखना।
आलस का हावी रहना, नवजातों
और बच्चों में ज्यादा नींद आना, वयस्कों
में चिड़चिड़ापन रहना।
मुंह का सूखना, त्वचा चिपचिपी
होना।
बहुत कम पेशाब आना या न आना।
प्यास न लगी हो तो भी पिएं पानी
तपती गर्मी और उमस के दौरान
अपने खाने में तरल पदार्थों की मात्रा
ज्यादा रखें, जैसे दाल, रसेदार सब्जियां
आदि। हर बार आपका शरीर तरल
पदार्थ की जरूरत को जाहिर नहीं
करता। ऐसे में जब आपको प्यास न
लगी हो, तब भी पानी जरूर पिएं।
खुद को रखें हाइड्रेट
इस बात का ख्याल रखें कि शरीर

में कभी भी पानी की कमी न होने पाए।
यदि आप प्रत्येक दो घंटे में मूत्र त्याग
नहीं करते तो इसका अर्थ है कि आप
उचित मात्रा में पानी नहीं पी रहे।
क्या करें झ्ाटपट उपाय
अगर कोई डीहाइड्रेशन का शिकार
हो चुका है तो उसे तुरंत नमक, चीनी

और पानी का घोल दें। घोल के लिए
एक लीटर उबले हुए पानी में 8 चम्मच
चीनी और एक चम्मच नमक डालें।
नारियल पानी और दाल का पानी
भी है कारगर।
चाय-कॉफी पीने की भूल न करें।
सूप से मिलेगा तत्काल आराम।

 


Facebook Comments